मुख्यमंत्री कमलनाथ के विरोध में अतिथि शिक्षक लगा रहे थे नारे, महिला कांग्रेस की नेत्रियां शामिल होकर देती रहीं उनका साथ

अतिथि शिक्षकों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

By: Mohar Singh Lodhi

Published: 27 Nov 2019, 10:18 AM IST

गुना. अतिथि शिक्षकों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर सोमवार को पेंढ़ भरकर प्रदर्शन किया। अतिथि शिक्षक सीएम कमलनाथ के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे और महिला कांग्रेस की पदाधिकारियों ने प्रदर्शन में शामिल होकर उनका साथ दिया। जब उनको यह समझ आया कि यह प्रदर्शन उनकी ही सरकार के खिलाफ है तो वह चुपके से एक-एक धरना-प्रदर्शन से दूर होती चली गईं।

जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा

अतिथि शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। दरअसल, अतिथि शिक्षक लंबे समय से नियमितीकरण की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि सरकार ने तीन माह के भीतर नियमित करने का वादा किया था। लेकिन एक साल से ज्यादा समय हो गया। कोई ध्यान नहीं दे रहा है। प्रदर्शन करने वालों में सतीश शर्मा, सुनील परिहार, केशव भार्गव, राकेश शर्मा, मनोज रघुवंशी, सोनू व्यास, सर्जन, अखिलेश भारद्वाज, कृष्णकांत जोशी, भूपेंद्र और विनोद सेन आदि शामिल रहे।


एक दिसंबर से जाएंगे बेमियादी हड़ताल पर

अतिथि शिक्षक अपनी मांगों को लेकर एक दिसंबर से हड़ताल पर जाएंगे। उनका कहना है कि सरकार ने एक दिसंबर से पहले कोई निर्णय नहीं लिया वे हड़ताल पर चले जाएंगे। इसके बाद २० दिसंबर को भोपाल की सड़कां पर उतरकर जेल भरो आंदोलन करेंगे।


पीएससी की तैयारी के लिए 72 युवाओं ने कराए रजिस्टे्रशन
यूथ क्लब द्वारा पीएससी की निशुल्क कोचिंग कराई जा रही है। इसके लिए 40 दिवसीय क्रेश कोर्स कराया जाएगा। इसके लिए 72 युवाओं ने रजिस्टे्रशन कराया है। इससें सबसे ज्यादा नए युवा शामिल हैं। दो अक्टूबर को कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार, एसपी राहुल लोढ़ा और जिला न्यायधीश आरके कोष्टा की उपस्थिति में निशुल्क कोचिंग शुरू की गई हैं। इसमें अधिकारी सिविल सर्विस और न्याययिक सेवा की परीक्षा के लिए तैयारी करा रहे हंै।

Mohar Singh Lodhi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned