दहल गया आधा शहर

दहल गया आधा शहर
Guna news

Kamal Singh Rajpoot | Publish: Jun, 05 2015 11:45:00 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

बोहरा मजिस्द के सामने स्थित गली में गर्मी के चलते लोग घरों के अंदर ही थे कि अचानक एक घर से जोरदार धमाके की आवाज सुनाई दी और मकानों का

गुना। बोहरा मजिस्द के सामने स्थित गली में गर्मी के चलते लोग घरों के अंदर ही थे कि अचानक एक घर से जोरदार धमाके की आवाज सुनाई दी और मकानों का सामान गिरने लगा। बोहरा मस्जिद गली में रहने वाली सुमनबाई का कहना था कि खिड़की के शीशे चटक रहे थे और टीवी फूट रहे थे। हम कुछ नहीं समझ सके और अपनी सासु मां के साथ घर से बाहर निकलकर भागे। बाहर आकर देखा तो आसमान में कपड़े और धूल उड़ रही थी और घरों के बाहर अफरा-तफरी का माहौल मचा हुआ था।

उन्होंने बताया कि विस्फोट इतना तेज था कि लोग घबरा गए थे। आनन-फानन में लोग घरों से निकल कर बाहर आ रहे थे। कुछ देर बाद समझ में आया कि अब्बास हुसैन के मकान में धमाका हुआ है। थोड़ी देर बाद लोगों की भीड़ जुटने लगी। कुछ लोगों ने कंट्रोल रूम और पुलिस को फोन किया। बाद में पुलिस की गाड़ी पहुंची और मलवा हटाते हुए लोगों को उनके घर से बाहर निकाला।

जीने की तरफ हुआ था विस्फोट
बताया जाता है विस्फोट जीने के साइड ही हुआ था। विस्फोट से कुछ मिनट पहले ही ग्राम नेगमा का निहाल सिंह मौके पर पहुंचा था और अब्बास हुसैन की उससे थोड़ी देर बातचीत हुई। इसके बाद अब्बास हुसैन जीने पर चढ़ गए। और वह नीचे बैठ गए। दो मिनट बाद ही विस्फोट हुआ और जोरदार धमाके के साथ पूरा जीना नीचे आ गया। इस विस्फोट में मकान मालिक अब्बास हुसैन के शरीर के कई हिस्से उड़ गए।

हलक में अटक गई थी जान
मैं अब्बास हुसैन से कुछ पैसे उघार लेने गया था। वह मुझसे बातचीत करने के बाद छत पर चले गए और मैं नीचे बैठ गया। थोड़ी ही देर बाद जोरदार धमाका हुआ। इसके बाद जीना के दासे और मलावा नीचे गिरने लगा। लेकिन कोई भी बड़ा पत्थर मेरे ऊपर नहीं गिरा। मैं एक तरफ फस गया थ। कुछ मलवा पैरों पर गिरा,जिससे पैरों में चोट आई है। इसके बाद मलवा में दबा हुआ था। कुछ आवाजें भी सुनाई दे रही थी। समझ नहीं आ रहा था क्या करें। चोट के कारण आवाज भी नहीं लगा पा रहा था। लगभग 20 मिनिट बाद मशीन से पत्थर हटाकर निकाला तो जान लोट आई। जब मलवा मे दबा था तो हलक में जान अटकी थी। - घायल निहाल सिंह ने अस्पताल में जैसा पत्रिका को बताया

घटना के बाद आए लोग मदद के लिए
घटना के बाद नगरपालिका अध्यक्ष राजेंद्र सलूजा और आसपास के लोग बड़ी संख्या में मदद के लिए आ गए। इस बीच फायर बिग्र्रेड भी मौके पर पहुंच गई। नसेनी लगाकर घायलों को घर से बाहर निकला गया। लगभग 20 मिनिट बाद जेसीबी और नपा कर्मचारी भी मौके पर आ गए और मलवा उठाना शुरू किया। मलवे में फसे निहाल सिंह अहिरवार को निकालकर अस्पामल भिजवाया गया। बताया जाता है कि निहाल सिंह के पैर और कमर मे चोट आई है।

चार लोग थे घर के अंदर
घटना के समय अब्ब्ाास हुसैन के अलावा दो बçच्चयां एक भतीजा और उनकी पत्नी शामिल थी। जिनको घटना के दौरान कुछ चोटें आई है। बाद में नसेनी की मदद से उन्हें सुरक्षित निकाल लिया है। कुछ समय तक इस बात को लेकर भी चर्चा चलती रही कि घर के अंदर कोई और तो नहीं फसा।

धमाका सुन दौड़े
जिस स्थान पर घटना हुई है वह शहर के बीचों-बीच है। इसके चलते धमाका आधे शहर में गूंज गया। बोहरा मजिस्द से लेकर बूढ़े बालाजी, हनुमान चौराहा, बस स्टैंड, नयापुरा सहित कई हिस्सों में धमाका सुनाई दिया। इसके बाद लोगों अपने अपने हिसाब से कयास लगाए। बाद में पता चला कि यह घटना बोहरा मस्जिद के पास हुई है।

पुलिस जुटी जांच मे
घटना के बाद एएसपी सतेंद्र सिंह तोमर, एफएसएल अधिकारी आरसी अहिरवार सीएसपी अशोक उपाध्याय सहित शहर कोतवाली पुलिस ने पहले मलावा हटाया। इसके बाद मकान की जांच शुुरू कर दी। एफएसएल अधिकारी आरसी अहिरवार ने बताया कि घटना जीना वाले क्षेत्र में हुई है और वहां पर मलवा जमा है। इसलिए कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इसके अलावा किचन और मकान का अन्य हिस्सा सुरक्षित है। वहीं टीआई विवेक अष्ठाना ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में परिवार वालों बताया कि जीने की तरफ चार सिलेंडर और सल्फर रखा हुआ था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned