किसान दंपति की मौत: डीजल के लिए चंदा करने के बाद शवों को ट्रैक्टर में लेकर स्वास्थ्य केंद्र पहुंच सके परिजन

किसान दंपति की मौत: डीजल के लिए चंदा करने के बाद शवों को ट्रैक्टर में लेकर स्वास्थ्य केंद्र पहुंच सके परिजन

Deepesh Tiwari | Updated: 14 Jun 2019, 02:30:39 PM (IST) Guna, Guna, Madhya Pradesh, India

करंट ने ली किसान की जान...

गुना@जावेद खान की रिपोर्ट...

शवों को लेकर अमानवीयता की कई घटनाओं के बारे में आपने भी सुना होगा। चाहे शव को ठेले पर ले जाने का मामला हो या कंधे पर, हर बार केव अमानवीयता या शर्मनाक शब्द समाज में गूंजे और फिर सब सामान्य हो गया। माना उस दौरान हुई घटना के समय कई जिम्मेदार मौजूद न हों।

लेकिन आज मध्यप्रदेश के गुना से एक ऐसी शर्मनाक घटना सामने आई जिसने सब को हिला कर रख दिया।

दरअसल मध्यप्रदेश के गुना जिले से एक दुखद घटना सामने आई है, जहां बिजली के तार की चपेट में आने से एक किसान दंपति की मौत हो गई।

 

बताया जाता है कि इस दौरान प्रशासन की टीम की मौजूदगी के बीच मृतक के परिजनों को शवों को अस्पताल तक लाने के लिए चंदा करना पड़ा, जिससे उन्होंने ट्रैक्टर में डीजल भरवाया और फिर शवों को लेकर अस्पताल पहुंच सके।

 

ऐसे समझें पूरा मामला...
जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के गुना जिले की कुंभराज तहसील के अंतर्गत मोहनपुर गांव में आज यानि शुक्रवार को 11 kv की लाइन टूट कर गिर गई।

इस हादसे में खेत में खेत में काम कर रहे एक किसान दंपति की दर्दनाक मौत हो गई। इस दौरान करंट इतना तेज था कि मृतकों का पूरा शरीर झुलस कर काला पड़ गया, यहां तक की हड्डियां तक गल गई।

मृतक के बच्चों ने बताया कि 11 केवी की लाइन के तार बहुत नीचे थे। मम्मी पापा खेत में काम कर रहे थे। उसी दौरान अचानक 11 केवी की लाइन से करंट लग गया और पिता श्रीलाल अहिरवार और मां रोड़ी बाई समेत एक बेल की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

परिजनों का आरोप है कि उन्होंने घटना की सूचना कई बार 100 डायल और 108 एंबुलेंस को दी, लेकिन बार-बार फोन लगाने के बावजूद कई घंटों तक दोनों घटना स्थल पर नहीं पहुंची।

वहीं सोशल मीडिया पर घटना के फोटो और वीडियो वायरल होने के बाद आनन-फानन में प्रशासन घटनास्थल पर पहुंचा और मृतक के शव को पीएम के लिए स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया।

बिजली विभाग पर लापरवाही के आरोप...
मृतक के परिजनों ने बताया कि 11 केवी की लाइन के तार बहुत नीचे आ जाने के कारण वे कई बार इस संबंध में विद्युत मंडल सुपरवाइजर सहित तमाम आला अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं।

ऐसे में कभी भी कोई घटना दुर्घटना घट सकती है, लेकिन इसके बावजूद विद्युत मंडल सुपरवाइजर द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। समय पर कार्रवाई नहीं होने के कारण ही आज 11kv के तारों से यह घटना हुई है।

लापरवाही और संवेदनशीलता भी सामने आई...
सूचना के बावजूद लगभग साढे 3 घंटे बाद जिम्मेदारों की टीम गांव में पहुंची। लेकिन इसके बावजूद शव ले जाने के लिए प्रशासन तक एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं करा सका।
जिस कारण परिजनों ने और गांव के लोगों ने चंदा इकट्ठा कर ट्रैक्टर में डीजल डलवाया, इसके बाद ट्रैक्टर की मदद से शवों को स्वास्थ्य केंद्र पर भेजा गया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned