धर्म-कर्म: 19 साल बाद बन रहा ऐसा संयोग, इसलिए यह सावन सोमवार है खास

धर्म-कर्म: 19 साल बाद बन रहा ऐसा संयोग, इसलिए यह सावन सोमवार है खास

By: दीपेश तिवारी

Published: 24 Jul 2018, 02:24 PM IST

गुना. पवित्र श्रावण मास की शुरुआत 27 जुलाई से हो रही है। लेकिन उदया तिथि 28 जुलाई से मानी जाएगी। 26 अगस्त को आखिरी दिन होगा। इस साल का सावन का महीना बहुत खास माना जा रहा है। क्योंकि 19 साल बाद एक दुर्लभ संयोग बना है और सावन में ४ सोमवार पड़ेंगे।
पं. राजेंद्र पुरी गोस्वामी के अनुसार सावन का महीना इस बार 28 या 29 दिनों का नहीं रहेगा बल्कि पूरे 30 दिनों का है। पिछले साल सावन 10 जुलाई से शुरू होकर 7 अगस्त तक 29 दिन का था। इस तरह का संयोग 19 साल बाद बन रहा है। जो कि बहुत खास है। दरअसल, इस बार का सावन 30 दिनों का होने के पीछे अधिकमास पडऩे के कारण हुआ है। 28 जुलाई को सावन का पहला दिन होगा जो कि 26 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन समाप्त होगा। पंचांग के अनुसार, इस बार सावन के कृष्ण पक्ष में भाई दूज दो दिन 29 व 30 जुलाई को रहेगी।

निकलेगी पालकी यात्रा
पवित्र श्रावण मास में पहले सोमवार को 30 जुलाई को शिव पालकी यात्रा निकाली जाएगी। यह पालकी यात्रा पुरानी गल्ला मंडी स्थित भगवान पशुपतिनाथ मंदिर से दोपहर 2 बजे शुरु होगी। इसकी तैयारियां आयोजन समिति द्वारा शुरु कर दी गई हैं। ताकि कुछ कमी न रह जाए।

श्रावण महीने में पड़ेंगे चार सोमवार
श्रावण मास का पहला सोमवार 30 जुलाई को पड़ेगा। इस सावन में 4 सोमवार पडऩे के कारण विशेष संयोग बन रहा है। बहुत से लोग श्रावण के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवार व्रत की शुरुआत करते हैं। सावन महीने की खास बात यह है कि इस महीने में मंगलवार का व्रत देवी पार्वती के लिए किया जाता है, जिसे मंगला गौरी व्रत के नाम से भी लोग जानते हैं। इस चार सोमवार को भगवान शिव की विशेष आराधना की जाएगी। साथ ही मंदिरों में सजावट भी होगी। साथ ही भोलेनाथ का आकर्षक श्रृंगार किया जाएगा, जो बहुत ही खास होगा।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned