बेटी की शादी के लिए पाई-पाई जोड़ रही थी विधवा, 20 मिनिट में चोर कर गए कंगाल

Javed Khan

Publish: Jun, 14 2018 05:04:45 PM (IST)

Guna, Madhya Pradesh, India
बेटी की शादी के लिए पाई-पाई जोड़ रही थी विधवा, 20 मिनिट में चोर कर गए कंगाल

वारदात के समय महिला अपने मायके और बेटा मौसी के यहां खाना खाने गया था

गुना। पति की मौत के बाद एक विधवा महिला बेटी की शादी और बेटे को बेहतर भविष्य के लिए पाई-पाई जोड़ रही थी। लेकिन चारों ने 20 मिनिट में उसे कंगाल बना दिया। अब महिला को अपने बच्चों की चिंता सता रही है।
प्रधान डाकघर पुलिस चौकी के सामने किराए से रहने वाली रामसखी बाई पत्नि अमीरसिंह धाकड़ ने बताया कि बुधवार को शाम 6 बजे वे अपनी बच्ची दीक्षा के साथ मायके बेरखेड़ी गई थीं। घर पर उनका बेटा सजल अकेला था। रात में लगभग दस साढ़े दस बजे के बीच बेटा अपनी मौसी के यहां खाने चला गया।

तभी अज्ञात चोर पीछे से घर में घुस आए और सरिया से उनके कमरे का ताला तोड़कर दीवान में रखे नगदी एवं जेवरात चुरा ले गए। चोरी सामान में गए सामान में 1 लाख 40 हजार रुपए नगद, एक सोने की चेन, सोने की बाली, पांच जोड़ी चांदी की पायल एवं लर शामिल हैं। उन्होंने हाल ही में प्लॉट बेचा था, जिसका पैसा घर पर ही रखा था। रात में लगभग 11 बजे के जब बेटा खाना खाकर घर आया तो उसे गेट टूटा हुआ मिला। महिला ने बताया कि दिसंबर 17 में उनके पति का देहांत हो गया था। बेटी की शादी के लिए वे रकम जोड़ रही थीं। उन्होंने पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर चोरी गए माल को वापस दिलवाने की मांग की है।

बोहरा समाज ने मनाई ईद, चांद दिखा तो सुन्नी समाज की ईद कल
गुना। भीषण गर्मी में रोजे रखकर अल्लाह की इबादत करने वालों के लिए ईद का चांद खुशियां लेकर आ रहा है। यदि आज चांद दिखा तो कल मुस्लिम धर्मावलंबी ईद का जश्न मनाएंगे। इससे पहले बोहरा समाज ने गुरूवार को ईद का त्यौहार मनाया और बोहरा मस्जिद में ईद की नमाज के बाद गले मिलकर एक दूसरे को बधाईयां दीं।
रमजान में दिन रात इबादत में मशगूल रहने के बाद दाउदी बोहरा समाज ने गुरूवार को ईद मनाई। समाज जन अलसुबह बोहरा मस्जिद में एकत्रित हुए और फजिर की नमाज अदा की। सूर्योदय के साथ ही ईद की नमाज जामनगर से आए आमिल शेख अली असगर केसरिया की इमामत पढ़ी गई।

इस अवसर पर शेख शब्बीर, शेख इफ्तेखार, शेख अकबर, नूरुल हसन नूर, मुल्ला हकीम, हुजेफा फारिग, खुरेमा बुरहान, यावर हुसैन सहित सभी समाजजन उपस्थित रहे। महिलाओं व बच्चों को ईद को लेकर खासा उत्साह देखा गया।
वहीं सुन्नी मुस्लिम समाज में ईद व अलविदा जुमे को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। समाज के लोग बेसब्री से चांद का इंतजार कर रहे हैं। यदि आज शाम चांद दिखाई देता है तो शुक्रवार को ईद मनाई जाएगी और अलविदा जुमे की नमाज नहीं हो सकेगी।

तैयारियों में जुटे
गुरूवार को दिन भर ईद की तैयारियों का दौर जारी रहा। कहीं सेवईयां और फैनी के ठेलों पर भीड़ नजर आई तो कहीं कपड़ों व गिफ्ट आयटमों की दुकानों पर लोग खरीदारी करते रहे। घरों पर भी तैयारियां होती रहीं। साफ-सफाई के साथ ही ईद पर बनने वाले पकवानों के लिए भी कच्चा माल तैयार करके रखा गया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned