भूख हड़ताल पर बैठी महिला कर्मचारी की तबियत बिगड़ी, महिला को चढ़ाई बोतल

भूख हड़ताल पर बैठी महिला कर्मचारी की तबियत बिगड़ी, महिला को चढ़ाई बोतल

By: मनोज अवस्थी

Published: 04 Jun 2018, 12:12 PM IST

गुना। 19 सूत्रीय मांगों को लेकर वन कर्मचारियों को आंदोलन तेज होता जा रहा है। आंदोलन के इस क्रम में महिला वन कर्मचारियों ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। लेकिन भूख हड़ताल पर बैठी कीर्ति रघुवंशी की तबियत बिगड़ गई। उनको मौके पर बोतल चढ़ाई और कूलर की हवा में लिटाया गया। हड़ताल में भूखे रहकर कीर्ति रघुवंशी के साथ अंकिता भार्गव, सोनी सोभन, माधवी शर्मा, उर्मिला लोधी ने विरोध जताया। उधर, वन कर्मचारियों की हड़ताल से जंगल में लकड़ी तस्कर सक्रिय हो गए हैं। कई बीटों से जंगल की कटाई जा रही है। वन कर्मचारी संघ के सचिव महेश गोस्वामी ने कहा, वन कर्मी अपनी जान जोखिम में डालकर वन सम्पदा की सुरक्षा करते हैं, इसके बाद भी मांग नहीं मानी जा रही हैं। २०० आंदोलन कर रहे हैं। अगले चरण में अर्धनग्न होकर, भीख मांगकर विरोध करेंगे।

150 से ज्यादा बीट, सभी जगह सुरक्षा का अभाव जंगल में हो रही है वनों की कटाई
गुना वन कर्मचारियों की हड़ताल से वनों की सुरक्षा खतरें में पड़ गई है। वनों की जमकर कटाई हो रही है। बीनागंज, चांचौड़ा, बमोरी, मधुसूदनगढ़ सहित कई जगह जंगल में वनों की कटाई हो रही है। हड़ताल की वजह से वनों की सुरक्षा खतरे में है। बताया जाता है कि हर दिन वनों की कटाई की सूचना आ रही है। उधर, वन कर्मचारियों की हड़ताल का कोई असर होता नहीं दिखा रहा है। इसी के साथ रोजगार सहायक, कृषि विस्तार अधिकारी और डाक विभाग के कर्मचारी भी आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन चौतरफा हो रहीं हड़तालों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है, लेकिन लोग परेशान हो रहे हैं।

रेल कर्मचारी बोले, धरना और प्रदर्शन के बाद भी बात नहीं सुनती सरकार, करेंगे व्यापक आंदोलन
गुना वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन ने महामंत्री मुकेश गालब के नेतृत्व में रेलवे के सामुदायिक भवन में यूनियन के सामने आ रही चुनौतियों को लेकर चर्चा की गई। वक्ताओं ने कहा, मौजूदा सरकार आंदोलन और धरना प्रदर्शन के बाद भी हमारी मांगों पर ध्यान नहीं देती है। बैठक में ४ बिंदुओं को लेकर चर्चा की गई। इसमें कर्मचारी को दी जाने वाली पेंशन योजना २००४ के स्थान पर पुरानी पेंशन योजना लागू करने, सातवें वेतनमान का लाभ देने, एआईआरएफ के वार्षिक अधिवेशन को लेकर चर्चा की। इस दौरान जोनल उपाध्यक्ष कपिल देव यादव सहित यूनियन के पदाधिकारी और रेल कर्मचारी शामिल रहे।

Show More
मनोज अवस्थी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned