एक मात्र स्त्री रोग विशेषज्ञ के भरोसे चल रही मेटरनिटी विंग

3 डॉक्टर लंबी छुट्टी पर, परेशान हो रहीं महिला मरीज

By: Narendra Kushwah

Published: 17 Feb 2021, 10:02 PM IST

गुना. जिला अस्पताल की सबसे महत्वपूर्ण व संवेदनशील इकाई मेटरनिटी विंग इस समय काफी परेशानी में है। इसकी मुख्य वजह एक साथ तीन डॉक्टर के लंबी छुट्टी पर जाना है। जिसके कारण न तो महिलाओं को ओपीडी में डॉक्टर मिल पा रही हैं और
न ही जटिल डिलेवरी के समय वह उपस्थित हो पा रही हैं। यही नहीं महिलाओं की सोनोग्राफी भी इसी वजह से नहीं हो पा रही है। मजबूरी में कई महिलाओंं को डॉक्टर के घर पर या प्राइवेट अस्पताल में दिखाना पड़ रहा है। ऐसे में आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की महिलाएं इलाज से वंचित हो रही हैं।
जानकारी के मुताबिक जिले की आधी आबादी मतलब महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति शासन गंभीर नहीं है। यही वजह है कि जिला अस्पताल सहित अंचल के स्वास्थ्य केंद्रों
पर महिलाओं के समुचित इलाज की व्यवस्था नहीं है। जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों से गर्भवती महिलाओं को जांच कराने तक जिला मुख्यालय आना पड़ रहा है। लेकिन यहां आकर भी उन्हें कई बार डॉक्टर के न मिलने से निराशा ही हाथ लगती है। ऐसे में उन्हें आर्थिक परेशानी के साथ-साथ बेहद कष्टदायक स्थिति का सामना करना पड़ रहा है
ताजा मामला जिला अस्पताल की मेटरनिटी विंग का। जहां 8 डॉक्टर पदस्थ हैं। जिनमें दो स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं तथा शेष 3 मेडिकल ऑफीसर हैं। जिनकी ड्यूटी ओपीडी के अलावा सप्ताह में लगने वाली रोशनी क्लीनिक तथा नाइट ड्यूटी लगाई जा रही है। वर्तमान में डॉ आराधना विजयवर्गीय व आभा शर्मा लंबी छुट्टी पर हैं। वहीं डॉ परिणीता तो निजी कारणों के चलते पिछले डेढ़ माह से अस्पताल आईं ही नहीं हैं।
-
महिला मरीजों को इसलिए आ रही ज्यादा परेशानी
इस समय मेटरनिटी विंग पूरी तरह एक मात्र डॉ ऊषा चौरसिया के भरोसे है। उन्हें ही
ओपीडी में जटिल प्रसव वाली महिलाओं को देखना है। साथ ही उनकी सोनोग्राफी भी उन्हें ही करनी है। इसके अलावा महिलाओं का सीजर भी उन्हें ही करना है। क्योंकि इस समय वही एक मात्र स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। इतना ज्यादा लोड होने के कारण वह मरीजों को पूरा समय नहीं दे पा रही हैं। ऐसे मरीज डाक्टर के घर पर या निजी अस्पताल जा रहे हैं। लेकिन यहां जाने पर उन्हें डॉक्टर की मोटी फीस के अलावा प्राइवेट पैथलॉजी में जांच करानी पड़ रही हैं। जिससे मरीजों पर अतिरिक्त आर्थिक भार पड़ रहा है। ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी गरीब परिवार की महिलाओं को आ रही है।
-
यह बोले जिम्मेदार
हां यह बात सही है कि मेटरनिटी विंग की तीन डॉक्टर लंबी छुट्टी पर हैं। इनमें डॉ परिणीता तो करीब डेढ़ माह से नहीं आई हैं। ऐसे में हमारे जो जो स्टाफ है उसी से काम लिया जा रहा है। लोड ज्यादा होने के कारण मरीजों को कुछ समस्याएं आ रही हैं।
डॉ हर्षवर्धन जैन, सीएस

Narendra Kushwah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned