scriptNever seen such a road of 2 crores before | 2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी | Patrika News

2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी

पत्रिका पड़ताल : निर्माण के बाद जगह-जगह से धंसकी
बारिश का पानी एक साइड से लगातार सड़क में बैठ रहा
क्षतिग्रस्त सड़क से आवागमन जारी, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
मामला नानाखेड़ी मंडी गेट से एसपी ऑफिस तक बनाई गई सड़क का

गुना

Published: July 08, 2022 12:34:05 am

गुना. शहर के गोपालपुरा मंदिर से नानाखेड़ी मंडी गेट तक बनाई गई डामर सड़क कई जगह से धंसक रही है। सड़क के साइड में इतने गहरे और चौड़े गड्ढे हो चुके हैं कि कोई भी वाहन इसमें धंसक सकता है। नवनिर्मित सड़क की यह हालत निर्माण कार्य में बरती गई लापरवाही की वजह से हुई है। मार्ग का चौड़ीकरण कार्य पूरा किए बिना ही इसे छोड़ दिया गया। जिसके कारण सड़क के साइड में पड़ी मिट्टी में लगातार पानी घुस रहा है और वर्तमान में सड़क का वजूद ही खतरे में आ गया है। इसकी जानकारी नगर पालिका सहित प्रशासनिक अधिकारियों को है इसके बावजूद सड़क को बचाने अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है। यहां बता दें कि सड़क बनने के बाद इस मार्ग से आवागमन पहले से ज्यादा बढ़ गया है। रात के समय इस मार्ग पर अंधेरा रहता है। वहीं वर्तमान में बारिश का मौसम है ऐसे में दुर्घटना की संभावना भी बढ़ गई है।
इस समय शहर के प्रमुख मार्ग और सड़कों की हालत देखें तो ऐसी कोई भी सड़क नजर नहीं आती, जो आवागमन के लिहाज से पूरी तरह से ठीक हो। हम बात कर रहे हंै एसपी ऑफिस कार्यालय के नजदीक बने गोपालपुरा मंदिर से नानाखेड़ी मंडी गेट के पास स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप तक बनाई गई सड़क की। जिसकी वर्तमान हालत बहुत खराब है। यदि समय रहते इस मार्ग को दुरुस्त नहीं किया गया तो नवनिर्मित सड़क पूरी तरह से धंसक कर क्षतिग्रस्त हो जाएगी। इस मार्ग से चार पहिया वाहन तो क्या दो पहिया वाहन भी नहीं निकल सकेंगे।
यहां बता दें कि इस सड़क का चौड़ीकरण कार्य एक साल पहले शुरू हुआ था। सड़क निर्माण की कुल लागत दो करोड रुपए है। प्रारंभ में मार्ग के दोनों ओर नाली निर्माण कराया गया। जो अभी भी अधूरा है। वहीं पहले यह सड़क 3 से 4 मीटर ही चौड़ी थी। जिसे बढ़ाकर 7 मीटर किया जाना है। जिसके लिए दोनों ओर बने पक्के निर्माण को हटाया गया। 1200 मीटर लंबे मार्ग में सिंगल रोड को डबल कर दिया गया। लेकिन सड़क के एक साइड में नाली और सड़क के बीच का हिस्सा छोड़ दिया गया है। जिससे यहां पड़ी मिट्टी में लगातार बारिश का पानी जा रहा है। जो सड़क को अंदर से लगातार खोखला करता जा रहा है। यह स्थिति सड़क के लिए खतरनाक बनती जा रही है।
-
न शोल्डर भरे और पिंचिंग कार्य किया
तकनीकी जानकारों के अनुसार डामर सड़क को सबसे ज्यादा नुकसान पानी पहुंचाता है। इसलिए इसे पानी से बचाने के लिए सबसे पहले जल निकासी की उचित व्यवस्था की जाती है। जगह के हिसाब से या तो नाली बनाई जाती हैं या फिर पानी का ढलान इस तरह से किया जाता है कि बारिश होने पर पानी सड़क के आसपास न भरे। साथ ही सड़क के दोनों ओर शोल्डर भरने के साथ ही पिचिंग कार्य किया जाता है। लेकिन इनमें से एक भी काम गोपालपुरा-नानाखेड़ी सड़क निर्माण में नहीं किया गया।
-
यह मार्ग कई मायनों में अति महत्वपूर्ण
नानाखेड़ी मंडी में अधिक संख्या में किसानों की ट्रेक्टर ट्रॉली आने पर उन्हें इसी मार्ग पर रखवाया जाता है। साथ ही शहर में किसी व्हीआईपी के आने की स्थिति में ट्रैफिक को कंट्रोल करने भी इस मार्ग का उपयोग किया जाता रहा है। कुल मिलाकर इस सड़क का उपयोग वैकल्पिक मार्ग के रूप में होता है। चुनाव में जब मतगणना होती है तो ज्यादातर ट्रैफिक यही से ही निकाला जाता है। शहर में वाहनों के प्रवेश को रोकने के लिए इसी मार्ग का उपयोग होता है।
-
फैक्ट फाइल
मार्ग का नाम : गोपालपुरा मंदिर से नानाखेड़ी मंडी गेट
सड़क की कुल लागत : 2 करोड
लंबाई : 1200 मीटर
चौड़ाई : 7 मीटर
2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी
2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी
2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी2 करोड की ऐसी सडक़ पहले कभी नहीं देखी होगी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें ListVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकालाममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसMaharashtra: खाने को लेकर कैटरिंग मैनेजर पर भड़के शिवसेना MLA संतोष बांगर, कर्मचारी को जड़ दिए थप्पड़कश्मीरी पंडित की हत्या मामले में सामने आई मनोज सिन्हा, महबूबा मुफ्ती व उमर अब्दुल्ला की प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहाराजस्थान के अलवर जिले में मॉब लिंचिंग, बेरहमी से पिटाई के बाद शख्स की मौत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.