टीआई को मारने की थी योजना

टीआई को मारने की थी योजना

Brajesh Kumar Tiwari | Publish: Dec, 08 2018 09:56:14 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 09:56:15 PM (IST) Guna, Guna, Madhya Pradesh, India

इंदौर भागकर गुना आए, इन आरोपियों के निशाने पर तत्कालीन कैंट थाना प्रभारी आशीष सप्रे थे, जिनको मारने की योजना बनाई गई थी, लेकिन पुलिस की सतर्कता के चलते तीन में से दो आरोपी केंद्रीय विद्यालय के आगे पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिए गए।

टीआई को मारने की थी योजना
गुना. बाल सुधार गृह इंदौर से भागे तीन आरोपियों में से दो पकड़े गए हैं। इनमें से गुना निवासी ट्रिपल मर्डर का आरोपी पुलिस को चकमा देने में सफल हो गया है। इंदौर भागकर गुना आए, इन आरोपियों के निशाने पर तत्कालीन कैंट थाना प्रभारी आशीष सप्रे थे, जिनको मारने की योजना बनाई गई थी, लेकिन पुलिस की सतर्कता के चलते तीन में से दो आरोपी केंद्रीय विद्यालय के आगे पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिए गए। पकड़े गए बालकों में एक की आयु 14 साल और दूसरे की 17 साल है।
कैंट पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की गई तो एक ने यह राज उगला है। तीन-तीन दोस्तों को मौत के घाट उतारने वाले आरोपी ने एक कट्टे का भी इंतजाम किया था। यह मामला सामने आने के बाद पुलिस और भी चौकन्नी हो गई है। उधर, टीआई सपे्र द्वारा इस गंभीर मामले की जानकारी पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को दी है। एसपी निमिष अग्रवाल ने बताया, दो नाबालिग बालकों को पकड़ा है। टीआई को मारने का कोई प्लान नहीं था। कैंट थाने में बैठे हैं। इंदौर पुलिस लेने आ रही है।


आरक्षक को जेल भेजा
गुना. एसपी आफिस में हंगामा कर रहे आरक्षक सौरभ राजपूत को जेल भिजवा दिया गया है। आरोपी की हरकत की वजह से कार्यालय की शाखाओं का काम प्रभावित हो रहा था, इसके बाद स्टेनों ने पुलिस को जानकारी दी।
पुलिस ने धारा 151 के तहत एसडीएम कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। बताया जाता है कि आरक्षक ने नशे में आकर हंगामा किया, इसके बाद उसके खिलाफ यह कार्रवाई की गई। उल्लेखनीय है कि आरक्षक द्वारा हंगामा करने पर एसपी आफिस कार्यालय और कार्यालय के बाहर से गुजरने वाले लोग भी खड़े होकर तमाशा देखने लगे। स्टेनों ने वरिष्ठ अफसरों से बात कर पुलिस को जानकारी दी।

MP/CG लाइव टीवी

अगली कहानी
Ad Block is Banned