रैली निकालने पर अड़े प्रदर्शनकारी

रैली निकालने पर अड़े प्रदर्शनकारी

brajesh tiwari | Publish: Sep, 05 2018 09:45:29 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

शहर बंद को लेकर प्रशासन व पुलिस पूरी सतर्कता बरत रहे हैं। हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। इसके साथ ही प्रदर्शन की घोषणा करने वाले भी अपनी तैयारियों में लगे हुए हैं।

गुना. बुधवार को कलेक्टर व एसपी ने पुलिस अधिकारियों के साथ ही प्रदर्शन में शामिल होने वाले लोगों की बैठक ली। सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर मंथन किया गया और प्रदर्शनकारियों को समझाने का भी प्रयास किया। बैठक के बाद भी प्रदर्शनकारी रैली निकालने की बात पर अड़े रहे।
उल्लेखनीय है कि ६ सितंबर के बंद को लेकर प्रदर्शन में शामिल विभिन्न समाजों के लोगों ने रैली निकालकर ज्ञापन सौंपने की तैयारी की है। दूसरी ओर प्रशासन रैली की अनुमति देने के लिए तैयार नहीं है। बुधवार को भी दोपहर में बैठक करने के बावजूद बात नहीं सकी। कलेक्टर विजय दत्ता व एसपी निमिष अग्रवाल ने समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी मांग पर अड़े रहे। इससे पहले दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने पुलिस अधिकारियों की बैठक भी ली और सुरक्षा व्यवस्थाओं पर चर्चा की। वहीं कलेक्टर ने जिले में धारा १४४ लागू कर दी है और बाहर से पुलिस बल भी बुलाया गया है। पुलिस व प्रशासन को आशंका है कि बंद के दौरान रैली निकाले जाने पर उत्पात हो सकता है। ऐसे में वे किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहते। उत्पात को रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। विभिन्न थानों पर शांति समितियों की बैठकों का भी आयोजन किया गया। वहीं मंगलवार रात में संगठन की ओर से भी एक बैठक बुलाई गई थी, जिसमें प्रदर्शन की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया।

वकीलों का समर्थन
एससीएसटी एक्ट को लेकर हो रहे विरोध में सपाक्स समाज को वकीलों का भी समर्थन मिला है। उधर, बजरंगगढ़ कस्बे में भी पुलिस ने फ्लैग मार्च निकाला है। जिलेभर में पुलिस बंद के दौरान बनने वाली अप्रिय स्थिति से निपटने तैयार है।


बैठक में नहीं बनी बात
बैठक में प्रशासन की ओर से रैली व सभा न करने की अपील करते हुए बाद में रैली निकालने की बात भी कही गई। लेकिन लोगों का कहना थ ाकि वे पहले से बोल चुके हैं, रैली करेंगे। हमारी तरफ से कोई चूक नहीं होगी। हमारा दस्ता रहेगा तो उत्पादियों को कंट्रोल करेगा। हम खुद पकड़कर पुलिस के हवाले करेंगे। दुकान बंद करवाने वाले भी हम हैं और बंद करने वाले भी हम हैं, जबरदस्ती वाली कोई बात नहीं है। चुनिंदा दो नारे लगाएंगे, एससीएसटी काला कानून वापस लिया जाए और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को लागू किया जाए। अंत में शहर में रैली नहीं निकालकर प्रताप छात्रावास से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाले जाने की अनुमति देने की मांग की गई।

सामूहिक अवकाश पर रहेंगे कर्मचारी
बंद के दौरान सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले अधिकारी कर्मचारी भी सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। सपाक्स अधिकारी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष प्रमोद रघुवंशी ने बताया कि उनका भी बंद को समर्थन है और गुरूवार को सामान्य वर्ग के कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहेंगे।

गलती करने वालों पर होगी कार्रवाई
हमने रैली न निकालने की अपील की है। वे आपस में चर्चा कर रहे हैं, इसके बाद हमें बताएंगे। शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन हो, यही प्रयास है। वे भी यही प्रयास कर रहे हैं। हम पूरी तरह से तैयार हैं। गलती करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। सभी जगह सब तैनात रहेंगे।
विजय दत्ता, कलेक्टर गुना

Ad Block is Banned