क्वारंटाइन लोगों की नहीं हो रही जांच, 3 दिन में हो सकी सफाई

-18 भवनों में क्वारंटाइन में हैं 386 लोग

By: Mohar Singh Lodhi

Published: 22 Apr 2020, 03:44 PM IST

गुना. बाहर से आए लोगों को सरकारी भवनों में क्वारंटाइन कर दिया है। लेकिन वहां उनकी जांच नहीं हो रही है। ऐसा ही मामला गेल इंस्टीट्यूट ऑफ स्किल्स में सामने आया है। यहां गुना के अलावा इंदौर और दूसरे जगह से आए लोगों को क्वारंटाइन किया है। यहां करीब 29 लोग तीन दिनों से हैं, लेकिन इस बीच उनकी कोई जांच करने नहीं पहुंचा। एक दिन पहले सीएमएचओ यहां निरीक्षण करने पहुंचे थे, जहां लोगों ने अपनी समस्याओं को भी बताया।
इसके बाद तीन दिन में मंगलवार को यहां सफाई हो सकी और परिसर को सैनिटाइज किया। इसके पहले न तो यहां वॉशरूम की सफाई हुई थी और ना ही परिसर की। लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यहां पुलिस भी तैनात नहीं है। सुबह और शाम को लोग बाहर घूमते मिलते। एक पटवारी की ड्यूटी लगाई है, वह खानापूर्ति के बाद निकल जाता है।
पहले दिन की स्क्रीनिंग
यहां क्वारंटाइन लोगों ने बताया कि जिस रोड पर पुलिस ने वाहन रोका और हमें क्वारंटाइन किया था, उसी दिन थर्मल स्क्रीनिंग हुई थी। इसके बाद कोई नहीं आया।
यहां एक इंदौर से आए किसान को भी क्वारंटाइन किया है। उनका कहना है कि उनकी जांच नहीं हो रही है। 11 दिन बाद यहां से वे घर गए और वहां बीमार निकले तो पूरा परिवार परेशान होगा। इसलिए यहां भी जांच की व्यवस्था होना चाहिए। जबकि सीएमएचओ डा. पी बुनकर का कहना है कि हम दिन में दो बार जांच करा रहे हैं।
कहां कितने क्वारंटाइन
जिले में करीब 18 भवनों में 386 लोग क्वारंटाइन में हैं। सरकारी अस्पताल में 6, साडा कालोनी अस्पताल में 21, आरोन में 1, एकलव्य स्कूल में 146, होटल अशोका में 8, हमीरपुर बमोरी में 11, फतेहगढ़ में 12, चक पातीखेड़ा में 25, नसियाजी में 4, हासे बांसखेड़ा 60, गुर्जरखेड़ी में 29, मूडरा बीनागंज में 2, गेल स्किल्ड में 29, बिसातपुर में 7 और कस्तूरबा बीनागंज 9 और जामनेर 6 सहित 18 भवनों में 386 लोगों को क्वारंटाइन किया है।
324 में से 321 की आई रिपोर्ट, एक भी पॉजीटिव नहीं
कोरोना संक्रमण काल के शुरू होने से अभी तक स्वास्थ्य विभाग ने 324 लोगों के से पल लेकर जांच के लिए ग्वालियर मेडिकल कॉलेज और भोपाल भेजे थे, जिनमें अभी तक 321 लोगों की रिपोर्ट आ गई है, जिनमें एक भी कोरोना पॉजीटिव नहीं मिला है। 324 में से तीन से पलों की रिपोर्ट आना और शेष है।

Mohar Singh Lodhi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned