शुभम दूध डेयरी प्लांट सहित कुंभराज के एक धनिया विक्रेता पर एफआईआर

मिलावटखोरों के खिलाफ प्रशासन हुआ सख्त

By: Narendra Kushwah

Updated: 20 Feb 2021, 09:56 PM IST

गुना. प्रशासन अब मिलावटखोरों के खिलाफ पूरी तरह से एक्शन मोड में आ गया है।
आमजन के स्वास्थ्य के साथ अब किसी भी कीमत पर खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिसकी एक नजीर प्रशासन ने हाल ही में जिले के दो मिलावटखोरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाकर दे दी है। इस कार्रवाई के बाद जिले भर के उन मिलावटखोरों में हड़कंप व दहशत की स्थिति है, जिन पर अब तक सिर्फ जुर्माने की कार्रवाई ही अंजाम दी गई थीं।
जानकारी के मुताबिक मिलावटखोरों के खिलाफ हर साल शासन-प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाती है। इस दौरान अभियान का नाम देकर रस्म अदाएगी बतौर कुछ दुकानों से सैंपल ले लिए जाते हैं और इनमें से चुनिंदा दुकानदारों पर सिर्फ जुर्माने की कार्रवाई अंजाम देकर अभियान को समाप्त कर दिया है। लेकिन पहली बार कलेक्टर कुमार पुरुषोत्म के कार्यकाल में न सिर्फ अभियान धरातल पर चला बल्कि जिले भर में किसी भी मिलावटखोर को कार्रवाई की जद से नहीं बचने दिया। खास बात यह है कि ऐसा भी पहली बार हुआ है जब मिलावटखोर की अवैध संपत्ति को जमींदोज कर दिया गया। साथ ही आरोपी मिलावटखोरों के खिलाफ रासुका जैसी गंभीर अपराध की धाराओं में मामला दर्ज कराकर उसे जेल भेज दिया गया हो। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए हाल ही में कलेक्टर ने समीक्षा बैठक के दौरान संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वे ऐसे मिलावटखोरों के खिलाफ पुलिस प्राथमिकी दर्ज कराएं जिनके सैंपल फेल आए हों। यह निर्देश मिलते ही महकमा हरकत में आया और अगले ही दिन 18 फरवरी को दो मिलावटखोरों के खिलाफ संबंधित थाने में एफआईआर दर्ज करा दी गई।
शुभम दूध डेयरी का संैपल निकला था अमानक
कैंट थाने में दर्ज एफआईआर के अनुसार 9 जनवरी को खाद्य विभाग की टीम ने इंडस्ट्रियल एरिया स्थित शुभम दूध डेयरी मिल्क प्रोडक्टस पर छापामार कार्रवाई करते हुए दूध व दूध से बने अन्य प्रोडक्ट के सैंपल लेकर जांच के लिए खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भोपाल भेजा था। जो रिपोर्ट सामने आई उसके अनुसार खाद्य पदार्थ मानव उपभोग के लिए अमानक पाए गए थे। दूध डेयरी प्लांट पर शुरूआती कार्रवाई में सिर्फ जुर्माना किया गया था। लेकिन अब कलेक्टर से मिले निर्देश के बाद एफआईआर दर्ज कराई गई है।
कुंभराज के धनिया विक्रेता पर भी मामला दर्ज
मिलावटखोरों के खिलाफ की जा रही सख्त कार्रवाई के क्रम में दूसरी गाज कुंभराज के एक धनिया विक्रेता पर गिरी है। आरोपी की दुकान से लिया गया धनिया का सैंपल जांच के बाद अवमानक पाया गया था। आमजन के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने के इस मामले में आरोपी दुकानदार पर धारा 272, 273 तथा 420 के तहत कुंभराज थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है।
-
अब अगला नंबर किसका ?
जिले के दो मिलावटखोरों के खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज होने के बाद अन्य मिलावटखोरों में हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि अब अगला नंबर किसका है। क्योंकि विभाग इस समय उन जांच रिपोर्ट की पड़ताल कर रहा है जिनमें उक्त संस्थान के सैंपल फेल पाए गए थे।

Narendra Kushwah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned