scriptSow only after two and a half inches of rain | ढाई इंच बारिश होने पर ही करें बोवनी | Patrika News

ढाई इंच बारिश होने पर ही करें बोवनी

  • घर का बीज इस्तेमाल करने से पहले 100 बीजों को अंकुरण करवाकर देख लें, 60 प्रतिशत से अधिक अंकुरण होना जरूरी
  • इस बार सोयाबीन का रकबा बढ़ा, लक्ष्य 224.740 हजार हेक्टेयर, पिछले साल 168.778 हेक्टेयर में बोई गई थी फसल

गुना

Published: June 22, 2022 01:41:49 am

गुना. मानसून की बारिश के साथ ही किसानों ने खरीफ फसल की बोवनी की तैयारियां शुरू कर दी हैं। अब तक जिले के प्रत्येक ब्लॉक में बारिश हो चुकी है। लेकिन कृषि विभाग की सलाह है कि किसान तभी बोवनी करें जब उनके इलाकेे में ढाई इंच बारिश हो जाए। यानी कि खेत में बुवाई के लिए पर्याप्त नमी का होना जरूरी है। वहीं बीज बोने से पहले उसे चैक अवश्य कर लें। क्योंकि पिछले कई सालों में किसानों को सोयाबीन के बीज में काफी नुकसान उठाना पड़ा है। कृषि विशेषज्ञ की सलाह है कि किसान पहले तो ऐसे स्थान से ही बीज खरीदें जहां प्रमाणित बीज मिल रहा हो। बाजार से खरीदते समय बिल अवश्य लेंं। साथ ही यदि घर का बीज बोना चाहते हैं तो पहले 100 बीजों को अंकुरण करवाकर देख लें। यदि इनमें से 60 से 70 बीज अंकुरित होते हैं तो ही इसका इस्तेमाल करें। यदि अंकुरण का प्रतिशत 60 है तो बीज की मात्रा बढ़ानी पड़ेगी। ऐसे में किसानों को अधिक खर्च भी आ सकता है। इसलिए बीज का चुनाव सोच समझकर ही करें।
-
किसानों को विशेष सलाह
सोयाबीन : सोयाबीन की बुवाई इस सप्ताह कर सकते हंै। लेकिन इसके लिए ढाई इंच बारिश का होना जरूरी है। बीज प्रमाणित स्रोत से ही खरीदें। बीजों को बोने से पहले सोयाबीन के लिए उपयुक्त राइजोबियम तथा सोयाबीन फास्फोरस विलायक बैक्टीरिया से अवश्य उपचार कर लें। क्योंंकि इस तरीके से बीजों के अंकुरण तथा उत्पादन में वृद्धि होती है। सोयाबीन की उन्नत किस्में- आरबीएस 2001-04, आरवीएस 2007-6, जे एस 9560, जे एस 2029 हैं।
मूंग : मूंग एवं उड़द की फसल की बुवाई के लिए किसान उन्नत बीजों का चयन करें। जैसे पूसा विशाल, पूसा- 5931, एस एम एल 668, सम्राट आदि तथा उड़द की किस्में जैसे- टाइप-9, टी-31, टी 39 आदि बुवाई से पूर्व बीजों को फसल विशेष राइजोबियम तथा फास्फोरस सोलूबलीजिंग बैक्टीरिया से अवश्य उपचार करें। बुवाई के समय खेत में पर्याप्त नमी होना आवश्यक है।
अरहर : अरहर की बुवाई इस सप्ताह कर सकते हंै। बीजों को बोने से पहले अरहर के लिए उपयुक्त राइजोबियम तथा फास्फोरस विलायक बैक्टीरिया से अवश्य उपचार कर लें। अरहर की उन्नत किस्में- आर. बी. एस-28. के. एम. टी-7. आई. सी.पी.एल-87 (प्रगति), टी.जे.टी.-501 हैं।
चावल : मानसून के पूर्वानुमान को ध्यान में रखते हुए, किसानों को सलाह है कि वे धान की नर्सरी की तैयारी शुरू कर दें। एक हेक्टेयर फसल के लिए 800-1000 वर्ग मीटर की नर्सरी पर्याप्त होती है। नर्सरी में बीज बोने से पहले 2 ग्राम प्रति किलो बीज की कैप्टेन से उपचार करें।
संकर किस्में- पीएचबी 71. पंत संकर धान 1. उच्च उपज देने वाली किस्में पूसा 44, पंत धन-4, पंत धन-10, पूसा-834, पूसा बासमती-1, पूसा बासमती-1509, पूसा उन्नत बासमती, पूसा सुगंधा-5. पूसा सुगंधा-4 (पूसा 1121 ). रणवीर बासमती और तरावड़ी बासमती।
-
क्या कहते हैं विशेषज्ञ
ढाई इंच बारिश होने पर ही किसान बोवनी करें। यदि वह बोवनी के लिए घर का बीज इस्तेमाल कर रहे हैं तो कम से कम 100 बीज को क्यारी में डालकर चैक कर लें। यदि 100 बीजों में से 60 से अधिक बीज अंकुरित हुए हैं तो ही उसका इस्तेमाल किया जाए। बाजार से खरीदते समय बिल अवश्य लें।
राजवीर सिंह तोमर, सहायक संचालक कृषि
--------
ढाई इंच बारिश होने पर ही करें बोवनी
ढाई इंच बारिश होने पर ही करें बोवनी
खरीफ फसल की बोवनी का लक्ष्य और गत वर्ष की पूर्ति
बीज लक्ष्य गत वर्ष पूर्ति
धान 5.210 6.592
मक्का 57.000 54.964
ज्वार 2.500 3.324
बाजरा 0.100 0.154
अरहर 0.050 1.751
उड़द 48.000 79.777
मूंग 1.000 5.968
सोयाबीन 224.740 168.778
मूंगफली 0.100 1.258
तिल 0.800 0.910
अन्य 0.000 1.700
---------------------------
योग 339.500 325.176
नोट: रकबा हजार हेक्टेयर में है।
---------------
बीज लक्ष्य उपलब्धता भंडारण वितरण
धान 5100 5417 1568 568
मक्का 6000 6401 2580 1273
ज्वार 1000 1200 575 27
बाजरा 1000 1910 235 00
अरहर 100 150 50 00
उड़द 3000 3157 765 135
मूंग 1500 2030 1205 77
सोयाबीन 30000 30204 8690 4340
मूंगफली 200 500 00 00
तिल 50 90 05 00
योग 47950 51059 15673 6420
नोट : इकाई क्विंटल में है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपीGST Council Meeting: बैठक के दूसरे दिन राज्यों को झटका, गेमिंग-कसीनों पर नहीं हो सका फैसलाबिहारः मोबाइल फ्लैश की रोशनी में BA की परीक्षा देते दिखे छात्र, गूगल का भी खूब लिया मदद, उठ रहे सवालMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को सौंपा इस्तीफाUdaipur Murder: अनुराग ठाकुर बोले- कांग्रेस की आपसी लड़ाई से राजस्थान में ध्वस्त हुई कानून-व्यवस्था, NIA को जांच मिलने से होगी तेज कार्रवाईMaharashtra Gram Panchayat Election 2022: महाराष्ट्र में इस तारिख को होगा ग्राम पंचायत चुनाव, अगले ही दिन आएंगे नतीजे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.