युवक से परेशान होकर छात्रा ने काटी हाथ की नस, 9 माह पहले की शिकायत पर नहीं हुई कार्रवाई

पिता बोले, 9 माह पहले दर्ज कराई एफआईआर, नहीं हुई कार्रवाई
छात्रा ने कहा, शिकायत वापस लेने लगातार बना रहा दबाव

By: Narendra Kushwah

Updated: 06 Jan 2020, 04:44 PM IST

गुना। महिलाओं व युवतियों को पुलिस कितनी सुरक्षा मुहैया करा पा रही है। इसका एक उदाहरण रविवार को ग्राम गढ़ा में सामने आया है। जहां एक युवक से परेशान होकर छात्रा ने अपने हाथ की नस काट ली। जिसके बाद पिता ने आनन फानन में अपनी बेटी को बाइक से जिला अस्पताल पहुंचाकर भर्ती कराया।

छात्रा को परेशान कर रहा था
बताया जाता है कि छात्रा ने यह आत्मघाती कदम इसलिए उठाया क्योंकि आरोपी युवक उसे 9 माह पहले पुलिस को दर्ज कराई शिकायत को वापस लेने के लिए दबाव बना रहा था। उल्लेखनीय है कि इस शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी युवक पर कोई कार्रवाई नहीं की इसीलिए वह लगातार छात्रा को परेशान कर रहा था।

जिला अस्पताल में भर्ती कराया
छात्रा के पिता ने अस्पताल चौकी पुलिस को दिए बयान में बताया है कि वह पेशे से सरकारी शिक्षक है तथा उसके चार लड़कियां हैं। यह घटना रविवार सुबह 11 बजे की है जब उसकी बेटी ने आरोपी युवक मयंक शर्मा से परेशान होकर छत पर जाकर अपने हाथ की नस काट ली थी। अत्याधिक खून बहने पर वह नीचे आई और माता पिता को घटना के संबंध में जानकारी दी। जिसके बाद तत्काल उसे बाइक से जिला अस्पताल में भर्ती कराया।


घटना में बेटी घायल हो गई थी
पिता ने पुलिस को बताया कि आरोपी युवक मयंक शर्मा गुना की हनुमान कॉलोनी में रहता है जबकि उसकी बेटी गुना के कॉलेज से बीए तथा डीसीए की पढ़ाई कर रही है। इससे पहले युवक एक बार बेटी को बाइक पर जबरन बिठाकर ले जाने की घटना अंजाम दे चुका है, इस दौरान उसकी बेटी ने बाइक से कूदकर अपने आपको बचाया था। इस घटना में बेटी घायल हो गई थी।

यह शिकायत जिसे वापस लेने बना रहा था दबाव
पीडि़त छात्रा ने 27 मार्च 2019 को कोतवाली में जो शिकायत दर्ज कराई थी। उसमें बताया था कि वह पीजी कॉलेज से प्राइवेट बीए फस्र्ट ईयर कर रही है। मुझे आशु उर्फ मयंक शर्मा निवासी हनुमान कॉलोनी काफी दिनों से बुरी नीयत से पीछा कर परेशान का रहा है।

तेजाब फेंकने की धमकी देने लगा
27 मार्च को करीब साढ़े 12 बजे एक निजी कम्प्यूटर सेंटर से ट्यूशन पढ़कर पैदल जयस्तम्भ चौराहा आ रही भी तभी मयंक शर्मा बुरी नीयत से पीछा करता हुआ आया और मेरा हाथ पकड़ लिया। मैंने छुड़ाने का प्रयास किया तो वह जबरन बजरंगगढ़ चलने के लिए कहने लगा तथा न जाने पर तेजाब फेंकने की धमकी देने लगा।

बाइक से कूद गई
यही नहीं उसे व पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी। जिससे घबराकर वह उसके साथ चली गई लेकिन वापस लौटते समय जब उसने मुझे घर नहीं जाने दिया तो मैं हड्डी मील रोड पर बाइक से कूद गई।

Show More
Narendra Kushwah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned