scriptThe estrangement between Rajya Sabha MP Jyotiraditya Scindia and Lok S | राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर ! | Patrika News

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !

  • गुना, बीना, अशोकनगर, रूठियाई, बीनागंज, व्यावरा क्षेत्र का आम यात्री सबसे ज्यादा परेशान
  • गुना-बीना लाइन की लाइफ लाइन बन्द होने से पैदा हुए हालात
  • वर्तमान में आम यात्रियों को कोई ट्रेन नहीं, जो चल रही वे सभी एक्सप्रेस और सुपरफास्ट

गुना

Published: February 17, 2022 02:50:29 am

गुना. क्षेत्र के दो सांसदों के बीच पैदा हुए मनमुटाव का असर अब इलाके के विकास कार्य व सुविधाओं पर भी पडऩे लगा है। हम बात कर रहे हैं क्षेत्र की रेल सुविधाओं की। गुना-बीना लाइन से जुड़ी जनता भी इस सियासी लडाई के मोहरे बन रही है। यही नहीं अब जनता भी सब कुछ समझ रही है। गलियारों व चोपालों पर बात होने लगी है। जिसमें कहा जा रहा है कि गुना-बीना लाइन की लाइफ लाइन बन्द होने का कारण लोकसभा और राज्यसभा के बीच मनमुटाव होना है। जो अपनी शक्ति को आम लोगों तक इस तरह पहुंचा रहे हैं। लोकसभा (सांसद डॉ केपी यादव) व राज्यसभा (सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया) के बीच कथित रूप से तालमेल न होने के कारण रेल के आला अधिकारी भी आम यात्रियों की परेशानियों को देखकर भी अनदेखा कर रहे हैं।
यहां बता दें कि गुना बीना लाइन की लाइफ लाइन (छकडा) गाड़ी को गुना बीना लाइन के हजारों आवश्यक यात्रियों की विशेष मांग पर माधवराव सिंधिया ने चलवाई थी। उक्त गाड़ी पहले एक चक्कर लगाती थी लेकिन कुछ वर्ष उपरांत उक्त गाडी की इतनी मांग बढ़ी और यात्री भी बढ़े कि वह दिन में चार चक्कर लगाकर समुचित वर्ग के यात्रियों को गंंतव्य स्टेशनों पर पहुंचाती थी। उक्त गाड़ी आगे चलकर लोगों की लाइफलाइन बन गयी।
रेल प्रशासन ने उक्त गाडी की सफलता देखकर उसको नम्बर भी दे दिया 51607, 51608, 51609, 51610, जो आगे चलकर और रेल सुविधा को देखकर उक्त गाडी से गांव से अच्छी पढाई के लिए शहरों के विद्यालयों में छात्र-छात्राएं प्रवेश लेकर अपडाउन कर पढने जाने लगे। गांव में बहुत से लोग बेरोजगार घूमते रहते थे, उन्हें मजदूरी ठीक से नही मिलती थी। उक्त गाड़ी का सुविधा युक्त समय देखकर गांव से शहरों में मजदूर, मजदूरी करने जाने लगा। जिससे वह अच्छा कमाकर अपने बच्चों परिवार का भरण पोषण करने लगा और उसका परिवार प्रसन्नता से आगे बढऩे लगा।
अशोकनगर और गुना जिले के बीच एक ही पॉलीटेक्निक कालेज है, जो जिला अशोकनगर में स्थापित है। उक्त कालेज में दोनों जिलों और उनके आस-पास के कस्बे गांव तहसील के हजारों छात्रों का भी उक्त गाडी से आना जाना होता था। इस लाइन का सबसे बड़ा और सभी जगह की गाडियां मिलने का केन्द्र बीना स्टेशन है। जहां पहुंचकर यात्री कहीं भी जाने के लिए गाडी पकड़ सकता था। इसलिए इस क्षेत्र के आमयात्रियों के लिए भी यह ट्रेन लाइफ लाइन बन गई।
उक्त गाडी की समय सारणी सुविधाजनक होने से व्यापारी, मजदूर, छात्र छात्राएं, कर्मचारी, प्राइवेट नौकरी करने वाले प्रत्येक दिन सैकड़ों की तादाद में अपडाउन करने लगे थे। इस प्रकार से यह गाड़ी उक्त लाइन की छ: डिब्बो वाली गाड़ी (छकडा ) अब समुचित वर्ग के यात्रियों की लाइफलाइन बन गयी थी। जिस पर सभी की निगाहे थी। हालाकि सियासत और रेल अधिकारियों की मनमानी के चलते उक्त गाड़ी को बीच में लेट लतीफ चलाने लगे। उक्त गाड़ी का समय यात्रियों के विपरीत कर दिया गया। यही नहीं रेलवे लाइन पर काम के चलते बन्द कर दी गयी।
उक्त क्षेत्र के यात्रियों की आवश्यकताओं और परेशानियों को जानकर यात्री सेवा संगठन ने रेल प्रशासन से इसे लेकर काफी लडाई लड़ी। समय परिवर्तन व उक्त गाडी को सही समय पर संचालन के लिए मांग की गई। जिसमें यात्री सेवा संगठन की यात्री हित में जीत भी हुई। परन्तु कोविड-19 के बहाने उक्त लाइफ लाइन को बन्द कर दिया गया। जो आज दिनांक तक चालू नहंीं हो सकी।
यात्री सेवा संगठन उक्त लाइफ लाइन को बहाल करने के लिए पिछले कई महीनों से पत्रों, सोशल मीडिया, ई-मेल और रेल के आला अधिकारियों से मिलकर कई बार निवेदन कर चुका है। यह काम अभी भी लगातार जारी है। परंतु आश्वासन के अलावा कुछ नही मिला। अगस्त माह में अधिकारियो से मिलने के बाद पता चला कि उक्त लाइफ लाइन की जगह मेमू गाडी का संचालन होगा। बीना में तीन मेमू गाड़ी के रेक भी आ चुके थे। एक रेक बीना-कोटा के लिए, दूसरा रेक गुना बीना के लिए और तीसरा रेक ग्वालियर बीना दमोह के लिए। लेकिन सियासत के चलते दो रेक कहीं और चला दिए गए। सिर्फ एक रेक ही मेमू का उक्त लाइन पर चल पाया बीना कोटा। आज भी बीना गुना लाइन का समुचित वर्ग का यात्री उक्त लाइन की लाइफ लाइन गाड़ी का बहाल होने का इंतजार कर राज्यसभा और लोकसभा के मनमुटाव की पीड़ा को मन में बिठा कर कोस रहा है।
-
राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !
राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !
इसलिए हो रही राजनीति
वर्षो पहले ग्वालियर बीना दमोह 51883, और दमोह बीना ग्वालियर 51884 पैसेंजर गाडी को माधवराव सिंधिया के विशेष प्रयासों से शुरू किया गया था। जिससे शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, बीना और इनसे जुडे आसपास के गांव के हजारों यात्री लाभांवित होते थे। लेकिन वर्ष 2019 से उक्त गाडी को बन्द कर दिया गया। अब केवल शिवपुरी और गुना के मध्य चलाई जा रही है। इससे यही सिद्ध हो रहा है कि बीना गुना के यात्रियों को ही इस सियासत का निशाना बनाया जा रहा है।
-
वर्तमान में यह है स्थिति
गुना-बीना लाइन पर वर्तमान में आम यात्रियों के लिए कोई गाड़ी नही है। सभी गाडियां एक्सप्रेस और सुपरफास्ट का संचालन किया जा रहा है। बीना नागदा गाड़ी जरूर आमजन की गाडी है परन्तु सियासत के चलते उक्त गाडी का भी समय परिवर्तन कर दिया गया है। जिससे बीना, अशोकनगर, गुना, रूठियाई, बीनागंज, व्यावरा क्षेत्र का आम यात्री परेशान है। यहां बता दें कि उक्त गाडी पूर्व में बीना से 4 बजे के लगभग चलती थी, जो गुना सुबह 7 बजे आकर सुबह 7:10 तक व्यावरा नागदा के लिए निकलती थी। जिसमें सैकड़ों की संख्या मे अपडाउनर व्यावरा तक जाते थे। उक्त गाडी में पैर रखने जगह नही मिलती थी। लेकिन अब समय बीना से सुबह 7 बजे करने से गुना से व्यावरा तक का यात्री उक्त गाड़ी से निकल जाता है। क्योंकि गुना में उक्त गाड़ी का आने का समय सुबह 10 बजे है, जो अपडाउनर और आम यात्री को सुविधा युक्त नही है। जो गाड़ी कुछ सवारियों को लेकर ही निकल जाती है। यही एक आमजन के लिए गाड़ी है। उक्त लाइन पर दूसरी गाडी बीना कोटा मेमू अभी संचालन हुआ है।
राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और लोकसभा सांसद डॉ केपी यादव के बीच मनमुटाव से हजारों यात्री परेशानी झेलने को मजबूर !

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जम्मू और कश्मीर: आतंकियों के निशाने पर सुरक्षा बल, श्रीनगर में जारी किया गया रेड अलर्टजापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरये हमारा वादा है, ताइवान पर चीनी हमले का अमरीका देगा सैन्य जवाब: US President Joe Biden"मेरे लिए ये कोई नई बात नहीं है'- IPL में खराब प्रदर्शन को लेकर Rohit Sharma की प्रतिक्रियासिद्धू की जिद ने उन्हें पहुंचाया अस्पताल, अब कोर्ट में सबमिट होगी रिपोर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.