अप-डाउन करने वाले बोले रेल मंत्री जी लाइफ लाइन ट्रेन चलवाओ

-बसों में ठसाठस सवारियां, खड़े होकर करना पड़ती है यात्रा, परेशानी से मिले निजात

By: praveen mishra

Updated: 19 Sep 2021, 01:21 AM IST

गुना। कोरोना संक्रमण काल कम होते ही ट्रेनें चलने लगी हैं। लेकिन अभी तक गुना-बीना लाइन की लाइफ लाइन ट्रेन चालू नहीं हो पाई है। इसके न चलने से सबसे ज्यादा परेशानी गुना-अशोकनगर के बीच प्रतिदिन अप-डाउन करने वालों को हो रही है।गुना से अशोकनगर पढ़ाने जाने वाले शिक्षिकाओं का दर्द ये है कि बस में मनमाना किराया देने के बाद भी खड़े-खड़े यात्रा करनी पड़ती है। उन्होंने रेल मंत्री, जीएम व डीआरएम से आग्रह किया है कि जल्द से जल्द गुना-बीना की लाइफ लाइन ट्रेन चलाई जाए।
बताया गया कि पिछले दो वर्षों से बीना-गुना की लाइन की लाइफ लाइन ट्रेन 51607, 51608,51609 बंद है। जिस कारण उक्त क्षेत्र के हर वर्ग छात्र-छात्राएं, मजदूर, किसान आम यात्री बेहद परेशान हैं। कोविड 19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए हर मंडल में आमजन की गाडिय़ां चालू हो गई हैं। एक सितम्बर से कक्षा 6 से 12 तक 2 वर्षों बाद स्कूल खुल गए हैं, प्राइमरी स्कूल 20 सितंबर से खुल रहे हैं। जहां छात्र-छात्राएं गांव से शहर स्कूल में पढने और उनको पढ़ाने के लिए स्टाफ प्रतिदिन इस ट्रेन से अप-डाउन करते हैं। गांव से शहर मजदूरी करने के लिए मजदूर और दूध बेचने वालों का इन ट्रेनों से आना-जाना रहता है। इन ट्रेनों के बंद होने से लोग परेशान हैं।
इस ट्रेन के चालू न होने से बसों में यात्रा करने वाले स्कूल शिक्षिकाओं ने बताया कि एमएसटी बनवाने के बाद हम लोगों की प्रतिदिन गुना से अशोकनगर और अशोकनगर से गुना वापसी हो जाती थी, इस ट्रेन के न चलने से बसों में यात्रा करनी पड़ रही है। बसों में इतनी भीड़ होती है कि हमें धक्के खाकर और मजबूरन में यात्रा करनी पड़ रही है। कभी-कभी तो बस के रास्ते में खराब हो जाने से समय पर स्कूल भी नहीं पहुंच पा रहे हैं।
यात्री सेवा संगठन के अध्यक्ष सुनील आचार्य ने बताया कि अशोकनगर से बीना के बीच आधे दर्जन से ज्यादा गांव स्टेशन हैं जहां रेल सुविधा के अलावा आने-जाने के लिए कोई सुरक्षित सुविधा नहीं हैं। इस ज्ञापन में मांग की कि इस गाड़ी को पूर्व समय के अनुसार गुना से चलाकर यात्रियों की सुविधा का ध्यान रखते हुए इन ट्रेनों को बहाल किया जाए और इन गाडिय़ों से अप-डाउन करने वालों की एमएसटी चालू कराई जाए। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों यात्री सेवा संगठन के एक प्रतिनिधि मंडल ने रेल मंत्री, जीएम और डीआरएम के नाम एक ज्ञापन गुना रेलवे स्टेशन अधीक्षक को सौंपा था। उन्होंने कहा कि इस लाइफ लाइन ट्रेन को चालू कर दिया जाए तो जहां एक ओर लोगों को परेशानी से निजात मिल जाएगी, वहीं रेलवे की आर्थिक आय में भी बढ़ोत्तरी होगी।

praveen mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned