तीन बार टूटी तालाब की वेस्टवियर

तीन बार टूटी तालाब की वेस्टवियर

Brajesh Kumar Tiwari | Publish: Sep, 10 2018 08:57:42 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

ग्रामीण क्षेत्र में घटिया निर्माण की वजह से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्राम मूंदौल तालाब में पानी अधिक आ जाने से वेस्टवियर बह गई है। उधर, क्षेत्र के गांवों में गंदगी की वजह से बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है।

झागर. झागर गांव में कंट्रोल की दुकान के आसपास कीचड़ और गंदगी हो रही है, इससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बमोरी बमोरी के मूंदौल तालाब की वेस्टवियर टूट जाने के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। यह वेस्टवियर तीन बार टूट चुकी है। ग्रामीणों ने बताया, घटिया निर्माण की वजह से बार-बार क्षतिग्रस्त हो जाती है। लोगों ने बताया, तालाब के गहरीकरण के नाम पर रुपए खर्च हो जाते हैं, लेकिन तालाब का गहरीकरण नहीं हो पाया है। जबकि गांव में पानी की कमी हमेशा बनी रहती है। इसके बाद भी जिम्मेदारों ने अब तक ध्यान नहीं दिया है। गांव में एक और तालाब का निर्माण की मांग उठ रही है, लेकिन ग्रामीणों की इस मांग पर ध्यान नहीं दिया गया है। ग्रामीणों ने बताया, एक और तालाब बन जाने से पानी की समस्या काफी हद तक कम हो सकती है। बारिश से रास्ते ही खराब नहीं हुए, बल्कि लोगों की भी परेशानी बढ़ा दी हैं। लगातार बारिश से उड़द की फसल भी पूरी नष्ट हो चुकी है। गांव में बीमारी फैल रही है। इसके बाद भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी तरह बमोरी क्षेत्र में कई गांवों में समस्याएं व्याप्त हैं, लेकिन समस्याओं का समाधान नहीं किया गया है।

 

उचित मूल्य की दुकान के आसपास कीचड

झागर. ग्राम पंचायत झागर की उचित मूल्य की दुकान कीचड़ से घिरी हुई है। करीब 20 से 25 गांव के लोग राशन लेने पहुंचते हैं। इसके बाद भी दुकान समय पर नहीं खोली जाती है।
इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। लोगों ने आपरेटर पर दुकान का संचालन ठीक से न करने के आरेाप लगाए हैं। जबकि राशन लेने के लिए गरीब दूर-दूर के गांवों से आते हैं। दुकान न खुलने की वजह से उनको काफी समस्या का सामना करना पड़ता है। अगर कोई ग्रामीण शिकायत करता है तो उसके साथ ठीक से व्यवहार नहीं किया जाता है। इस कारण लोग राशन लेने से वंचित हो जाते हैं। उनको खाली हाथ लौटना पड़ता है।

गांवों के रास्ते में कीचड़ ही कीचड़
गांवों को जोडऩे वाले रास्तों पर कीचड़ हो रहा है। जल स्त्रोतों के आसपास पानी जमा होने से बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है। बमोरी क्षेत्र के चीम और रामपुर में लोग एक साथ बीमार हो गए। इस वजह से उनको काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। गंदगी फैलने से 50 से 60 लोग बीमार हो गए। जिनमें दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। उल्टी दस्त से परेशान हैं, फिर भी गांवों में पानी निकास की व्यवस्था नहीं की जा रही है। गांव में किसान और श्रमिक वर्ग के लोग रह रहे हैं। उधर, पुलिया निर्माण की राशि, सीसी रोड की राशि, मरघट शाला की राशि और विद्यालय भवन की राशि अभी तक नहीं मिली है। इस वजह से लोग परेशान हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned