हाईवे पर दो ट्रक भिड़े, लगा दो किलोमीटर लंबा जाम, शहर की सड़क से निकले भारी वाहन

-सांसद के आदेश पर पुलिया का विस्तार हो जाता तो नहीं रूकता यातायात,हैरानी में रहे लोग

By: praveen mishra

Published: 20 Sep 2021, 12:31 AM IST

गुना। नेशनल हाईवे-46 के एबी रोड हरीपुर पुलिया के पास रविवार को दोपहर 12 बजे करीब दो ट्रक आमने-सामने भिड़ गए। इन ट्रकों के भिडऩे के बाद सड़क पर जाम लगना शुरू हुआ, यह जाम कुछ ही देर में दो किलोमीटर लंबा दोनों तरफ से जाम लग गया। जाम लगने को देखकर हाईवे से निकलने वाला यातायात शहर की सड़क से निकलने लगा। भारी वाहनों को दिन में शहर की सड़क पर देखकर लोग कुछ देर के लिए हैरानी में रहे। इसी बीच कुछ जगह भारी वाहन की चपेट में आने से दो-तीन बाइक चालक बचे। एक ट्रक को हटाया, दूसरे को सही कराकर हटाया, चार घंटे बाद हाईवे का यातायात सुव्यवस्थित हो पाया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को इंदौर की ओर से आ रहा ट्रक एमपी -09 एचएच- 3913 नेशनल हाइवे-46 से होता हुआ ग्वालियर की और जा रहा था, यह ट्रक गुना में हरिपुर की पुलिया के पास पहुंचा ही था कि इसी बीच सामने से आ रहे एक दूसरे ट्रक ने पुलिया पर ही टक्कर मार दी। इससे यह दोनों ट्रक पुलिया पर खड़े हो गए, जिससे यह रास्ता अवरूद्ध हो गया। नेशनल हाईवे-46 से निकलने वाला यातायात अवरूद्ध होने लगा। इसी बीच दो खम्बा पर तैनात पुलिस ने ग्वालियर से इंदौर की और जाने वाले भारी वाहनों व चार पहिया वाहनों को गुना शहर के अंदर की सड़क से निकालने की व्यवस्था की, इसके बाद तो शहर की सड़क पर ट्रक ही ट्रक नजर आए, जिससे हनुमान चौराहे और जय स्तम्भ चौराहे पर जाम लगता रहा, जिसको खुलवाने की मशक्कत यातायात पुलिस कर्मी करते रहे।
ये था नजारा
पत्रिका टीम जब नेशनल हाईवे-46 पर इस दुर्घटना के बाद जाम की स्थिति को देखने पहुंची तो आरटीओ कार्यालय से चिंताहरण हनुमान मंदिर टोल नाके तक लगभग साढ़े पांच सौ से अधिक ट्रकों की दोनों और लंबी लाइन लगी थी। हरिपुर की पुलिया जो सकरी है, जिसकी वजह से दुर्घटना ग्रस्त ट्रक पुलिया वाली सड़क के आधे हिस्से को घेरे खड़ा था। दूसरा ट्रक वहां से हटवाया, इसके बाद एक-एक तरफ के भारी वाहनों को निकलवाना शुरू किया। यहां खड़े ट्रकों के चालकों को जाम जल्दी खुलने का बेसब्री से इंतजार था। एक ट्रक चालक का कहना था कि इंदौर माल जल्दी भेजना था, जाम में फंस गए, समय पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। दूसरे चालक ने कहा कि सुबह नाश्ता भी नहीं किया, गुना से निकलकर नाश्ता करने की सोचा था, लेकिन यहां जाम में फंस गए।


नहीं भरे गड्डे और न पुलिया का हुआ विस्तार
यहां खड़े ट्रक चालकों ने कहा कि नेशनल हाईवे की इस सड़क पर गड्डे हैं, बारिश हो रही है, जिससे गड्डों में पानी भरा है, उन गड्डों की वजह से हम जैसे बड़े वाहन वालों को परेशानी हो रही है। दो पहिया वाहन चालक तो उसमें गिर ही जाते होंगे। हरिपुर के पास पुलिया जिसके विस्तार के लिए एक वर्ष पूर्व सांसद डा. केपी यादव नेशनल हाईवे के अधिकारियों के साथ यहां पहुंचे थे, उन्होंने स्पीड ब्रेकर बनाने, पुलिया का विस्तार कर सड़क बनाने और वहां रेडियम लगाने के निर्देश दिए थे। सांसद के इन आदेशों के बाद एक भी काम वहां नहीं हुआ।
पिछले वर्ष हुए थे दो बड़े एक्सीडेंट
कोरोना के लॉक डाउन के समय इन पुलियों की वजह से दो बड़े एक्सीडेंट हुए थे, जिनमें एक दर्जन से अधिक लोग मर गए थे, जो मुंबई से वापस उप्र में अपने गांव जा रहे थे। इसके बाद यह बात सामने आई थी कि फोरलेन यहां नहीं हैं, जिसको कागज में फोरलेन बताकर टोल भी वसूला जा रहा था। जबकि यहां की सड़क टू लेन है। जिसका अवलोकन करने के बाद सांसद ने सड़क विस्तार की बात कही थी। हालांकि फोरलेन का काम अभी कुछ दिन पहले ही नेशनल हाईवे-46 की इस सड़क पर चल रहा है, जो बारिश की वजह से बंद पड़ा हुआ है।

praveen mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned