scriptWhat kind of good governance is this where the collector has to write | यह कैसा सुशासन जहां सरकारी स्कूल को अतिक्रमण मुक्त कराने कलेक्टर को लिखना पड़ रहा पत्र | Patrika News

यह कैसा सुशासन जहां सरकारी स्कूल को अतिक्रमण मुक्त कराने कलेक्टर को लिखना पड़ रहा पत्र

स्कूल प्राचार्य लगातार कर रहे अतिक्रमण हटवाने गुहार, नहीं हो रही सुनवाई

गुना

Published: February 26, 2022 12:56:04 am

गुना/फतेहगढ़ . अतिक्रमण हटाने के मामले में प्रशासन का रवैया सवालों के घेरे में है। इसके एक नहीं बल्कि कई उदाहरण सामने आ चुके हैं। लेकिन हम बात कर रहे हैं ऐसे मामले की जिसमें खुद कलेक्टर को दखल देना पड़ रहा ैहै। यह मामला है सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना सीएम राइज स्कूलों का। जिनके संचालन को लेकर की जाने वाली आगामी कार्रवाई में सीमांकन न होना व अतिक्रमण बाधा बन रहा है। यह जानकारी जिला प्रशासन को तब लगी जब भोपाल से पत्र आया। जिसमें बताया गया है कि आपके जिले में सीएम राइज योजना अंतर्गत विद्यालय चयनित किए गए हैं। इन विद्यालयों को सर्व संसाधन संपन्न स्कूल (सीएम राइज) के रूप में विकसित करने के लिए वास्तुविद का चयन किया गया है। उन्हें जिलों का आवंटन भी कर दिया गया है। उक्त टीम द्वारा चयनित विद्यालयों का मौके पर जाकर सर्वेक्षण किया जा रहा है एवं सर्वेक्षण के दौरान कतिपय विद्यालयों में यह तथ्य सामने आया है कि विद्यालय के लिए आवंटित भूमि का सीमांकन नहीं है एवं अतिक्रमण की भी समस्या है। ऐसे में आप जिले के चयनित सभी विद्यालयों में सीमांकन करने एवं अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई एक सप्ताह में सुनिश्चित करें।
-
इस उदाहरण से समझें अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई की हकीकत
स्कूल : शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फतेहगढ़
स्थिति : वर्तमान में बाबू सिंह पिंडारा नामक व्यक्ति द्वारा गुमठी रखकर मेन गेट के पास अतिक्रमण कर लिया है। वर्तमान में इस स्कूल में बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं। शुक्रवार सुबह 8.40 बजे अतिक्रामक द्वारा स्कूल के मेन गेट के सामने ही लोडिंग वाहन को रोककर एक गुमठी उतारी जा रही थी। जबकि एक गुमठी वहां पहले से ही रखी हुई थी। इस दौरान परीक्षार्थियों को आने-जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। यहां बता दें कि स्कूल प्रबंधन द्वारा पिछले काफी समय से अतिक्रमण हटाने को लेकर लगातार पत्राचार किया जा रहा है। इसके बावजूद अतिक्रमण हटने की वजाए बढ़ता ही जा रहा है। विद्यालय के मेन गेट के दोनों तरफ अतिक्रमण हो चुका है। स्कूल प्रबंधन ने प्रशासन को भेजे पत्र में आशंका व्यक्त की है कि यदि इस अतिक्रमण को समय रहते नहीं हटाया तो आगामी समय में पक्का अतिक्रमण हो जाएगा।
-
यह बोले जिम्मेदार
फतेहगढ़ विद्यालय की प्रभारी प्राचार्य अर्चना सुमन ने बताया कि यहां के नियमित प्राचार्य भगवत झा हैं। जिनकी इस समय ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में झागर में लगी है। वे जब इस स्कूल में आईं तो उन्हें काफी कुछ अलग दिखाई दिया। शरारती तत्व कभी गेट पर बाइकें तो कभी ट्रैक्टर रख देते हैं। यही नहीं कुछ लोगों ने तो अतिक्रमण कर टपरिया डाल ली तथा कुछ टीनशेड चढ़ा रहे हैं। इस तरह यहां स्कूल की सुरक्षा को खतरा है। क्योंकि मेन गेट के दोनों तरफ बहुत से असामाजिक तत्व के लोग बैठे रहते हैं। जिन्हें वह नहीं जानते। जब छात्र छात्राएं अपनी साइकिल से निकलते हैं तो अतिक्रमण की वजह से सामने से कुछ भी नहीं दिखता है ऐसे में कभी भी कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती है।
-
सीएम राइज के लिए चयनित स्कूल
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरखेड़ा हाट
शासकीय मॉडल उच्ततर माध्यमिक विद्यालय चांचौड़ा
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फतेहगढ़
शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बमोरी
शासकीय मॉडल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राघौगढ़
-
कलेक्टर ने सभी एसडीएम को पत्र में यह लिखा
सीएम राइज योजना अंतर्गत चयनित विद्यालयों में से कुछ स्कूलों को आवंटित भूमि पर सीमांकन नहीं होने एवं अतिक्रमण की समस्या के कारण सर्वेक्षण कार्य नहीं हो पा रहा है। यह जानकारी लगने के बाद कलेक्टर ने अनुविभाग गुना, आरोन, राघौगढ़ तथा चांचौड़ा के एसडीएम को पत्र भेजा है। जिसमें कहा गया है कि सीएम राइज शासन की अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके तहत उक्त विद्यालयों को सर्व संसाधन संपन्न स्कूलों के रूप में विकसित किया जाना है। जिसके लिए राजस्व दल गठित करते हुए सूची अनुसार चयनित विद्यालयों को आवंटित भूमि का सीमांकन करने एवं अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई 7 दिन में पूर्ण करें तथा उक्त कार्रवाई से अवगत भी कराएं।
यह कैसा सुशासन जहां सरकारी स्कूल को अतिक्रमण मुक्त कराने कलेक्टर को लिखना पड़ रहा पत्र
यह कैसा सुशासन जहां सरकारी स्कूल को अतिक्रमण मुक्त कराने कलेक्टर को लिखना पड़ रहा पत्र
यह कैसा सुशासन जहां सरकारी स्कूल को अतिक्रमण मुक्त कराने कलेक्टर को लिखना पड़ रहा पत्रletter.jpeg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

भारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...योगी की राह पर दक्षिण के बोम्मई, इस कानून को लागू करने वाला नौवां राज्य बना कर्नाटकSri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे की बची कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव हुआ खारिज900 छक्के, IPL 2022 में रचा गया इतिहास, बल्लेबाजों ने 15वें सीजन में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्डIPL 2022 : 65वें मैच के बाद हुआ बड़ा उलटफेर ऑरेंज कैप पर बटलर नंबर- 1 पर कायम, पर्पल कैप में उमरान मलिक ने लगाई छलांगज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होभाजपा के पूर्व सांसद व अजजा आयोग के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष के इस पोस्ट से मचा बवाल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.