व्यापमं फर्जीवाड़े का आरोपी गिरफ्तार

व्यापमं फर्जीवाड़े का आरोपी गिरफ्तार
Guna news

Kamal Singh Rajpoot | Publish: Jun, 05 2015 11:50:00 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

कैंट थाना पुलिस ने व्यापमं पीएमटी परीक्षा फर्जीवाड़ा के आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। आरोपी वर्ष 2010 से फरार था, जिस पर पुलिस ने

गुना। कैंट थाना पुलिस ने व्यापमं पीएमटी परीक्षा फर्जीवाड़ा के आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। आरोपी वर्ष 2010 से फरार था, जिस पर पुलिस ने पांच हजार रूपए का इनाम भी घोषित किया था। हालांकि, पुलिस ने आरोपी के स्थान पर परीक्षा दे रहे युवक को पूर्व में गिरफ्तार कर लिया था।

एसपी पीएस विष्ट ने बताया कि व्यावसायिक परीक्षा मंडल द्वारा वर्ष 2010 में पीएमटी की परीक्षा आयोजित की गई थी। इस परीक्षा में अवधेश राजपूत निवासी हमीरपुर उप्र भी परीक्षार्थी था, लेकिन इसके स्थान पर दूसरा युवक परीक्षा दे रहा था। मामला पकड़ में आने के बाद कैंट थाने में विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी। हालांकि, फर्जी परीक्षार्थी बनकर परीक्षा दे रहे युवक को पुलिस ने पूर्व में गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन असल परीक्षार्थी अवधेश तभी से फरार चल रहा था। इस पर पुलिस ने पांच हजार रूपए का इनाम भी घोषित किया था।

फिर गठित की टीम
इधर, एसपी ने एएसपी सत्येंद्रसिंह तोमर को सीएसपी अशोक उपाध्याय के माध्यम से समीक्षा के निर्देश दिए। इस दौरान सामने आया कि आरोपी शातिर होकर लगातार ठहरने की जगह बदलता रहा है, जिससे पुलिस के हाथ नहीं पहुंच पा रहे थे। कैंट टीआई अभयप्रताप सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली की आरोपी हमीरपुर के आसपास देखा गया है। इस पर टीआई के अलावा बजरंगगढ़ थाना प्रभारी अमृतलाल परिहार, आरक्षक राममोहन दुबे, सत्येंद्र मिश्रा, सूर्येद्र मिश्रा सादा वर्दी में नजर रखने पहुंचे, तो आरोपी अवधेश ने भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी अवधेश से अन्य मामलों में भी पूछताछ की जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned