पंजाब के पूर्व डीजीपी के खिलाफ अवैध खनन की रिपोर्ट दर्ज

साथ में 45 लोग भी आरोपी बनाए गए, सभी को फरार दिखाया गया है

By: Bhanu Pratap

Published: 09 Jul 2020, 09:09 PM IST

मोहाली/गुरदासपुर। पंजाब पुलिस के पूर्व महानिदेशक परमदीप सिंह गिल पर पुलिस का शिकंजा कसा है। उनके खिलाफ अवैध खनन का मुकदमा पंजीकृत किया गया है। सात में 45 अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। जिला खनन अधिकारी मोहाली की शिकायत पर यह अभियोग दर्ज किया गया है। मुकदमा का नम्बर 34 है।

क्या है मामला

उप-मंडल मजिस्ट्रेट खरड हिमांशु जैन द्वारा अवैध माइनिंग पर नकेल डालने के लिए कमेटी गठित की थी। खिजराबाद के करीब सैनीमाजरा (जिला मोहाली, पंजाब) का दौरा किया गया। देखा गया कि गांव में अलग-अलग जगहों पर लगातार अवैध माइनिंग की गई है। यहां कुल 45 मामले इस तरह के हैं। इन जमीन मालिकों में से एक परमदीप सिंह गिल पूर्व डीजीपी पंजाब भी हैं। यहां यह बताना आवश्यक है कि परमदीप सिंह गिल ने गांव सैनी माजरा की लगभग 150 एकड़ जमीन पर कब्जा लिया था। तब उन्हें इस जमीन के कब्जे को लेकर बड़े स्तर पर आलोचना का सामना करना पड़ा था।

सभी लोगों को फरार दिखाया गया

इस जमीन की गिरदावरी को लेकर एक पक्ष गांव वासियों और दूसरा पक्ष पूर्व डीजीपी द्वारा उपमंडल मजिस्ट्रेट और एडीसी मोहाली के यहां केस भी चला था। अब पुलिस द्वारा परमदीप सिंह गिल पूर्व डीजीपी सहित गांव के 45 अन्य व्यक्तियों के खिलाफ 21(1) माइनिंग एंड मिनरलज एक्ट 1957 तहत केस दर्ज करने और गांव सैनी माजरा की शामलात दोबारा से चर्चा में आ गई है। स्थानीय पुलिस द्धारा दर्ज किए केस अनुसार सारे मामले में शामिल सभी व्यक्तियों को फरार दिखाया गया है।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned