दिल्ली से सटे गुरुग्राम के आठ वार्ड में आज से सख्ती, आवाजाही बंद, घर-घर होगी स्क्रीनिंग

गुरुग्राम में कोरोना के मरीजों की संख्या 5260 हो गई है। 90 लोगों की मौत हो चुकी है।

By: Bhanu Pratap

Updated: 30 Jun 2020, 12:38 PM IST

गुरुग्राम। हरियाणा राज्य का गुरुग्राम शहर कोरोनावायरस के लिए कुख्यात हो चुका है। तमाम जतन करने के बाद भी यहां स्थिति नियंत्रित नहीं हो पा रही है। इसे देखते हुए गुरुग्राम में 30 जून से सख्ती की जा रही है। शहर के आठ वार्ड में घोषित संक्रमित क्षेत्र में आवाजाही पूरी तरह से बंद की जाएगी। जो नहीं मानेंगे उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी। 14 जुलाई तक यह प्रयोग किया जाएगा। फिर इसका असर देखा जाएगा। अगर बात बन गई तो इसी प्रयोग को अन्य जगह किया जाएगा। गुरुग्राम दिल्ली से लगा हुआ है। इस कारण भी समस्या है। गुरुग्राम में कोरोना के मरीजों की संख्या 5260 हो चुकी है, जिसमें 3882 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 828 मरीजों का होम आइसोलेशन में इलाज चल रहा है। जिले में कोरोना से 90 मौतें हो चुकी हैं।t: 6:20

कोरोना प्रकोप वाले इलाके

नगर निगम के वार्ड नंबर-चार का डूंडाहेड़ा, जिसमें विशेष रूप से पुलिस स्टेशन रोड, अग्रवाल स्वीट्स गली, डूंडाहेड़ा सामुदायिक केंद्र वाली गली व विशाल मेगा मार्ट वाली गली शामिल हैं। वार्ड नंबर-16 के अजरुन नगर, ज्योति पार्क व मदनपुरी और वार्ड नंबर-17 के रतन गार्डन व शिवपुरी, वार्ड नंबर-20 के शिवाजी नगर व शांति नगर, वार्ड नंबर-21 के बलदेव नगर, फिरोज गांधी कॉलोनी व रवि नगर शामिल हैं। वार्ड नंबर-22 के हीरा नगर, गांधीनगर व शिवाजी पार्क, वार्ड नंबर-23 के हरिनगर व शक्ति पार्क व वार्ड नंबर-35 का नाथूपुर आबादी क्षेत्र शामिल हैं। यह वही इलाके हैं जहां पर पर कोरोना के अधिक केस आए हैं।

घर-घर होगी स्क्रीनिंग

इन सभी ज्यादा फैलाव वाले क्षेत्रों के लिए जिलाधीश द्वारा विस्तृत प्रबंधन प्लान तैयार कर उनमें कंटेनमेंट प्लान कड़ाई से लागू करने के आदेश दिए हैं। इस प्रबंधन प्लान के अनुसार चिन्हित क्षेत्रों में आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। सभी के स्वास्थ्य की डोर-टू-डोर स्क्रीनिंग होगी। इसके लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। सिविल सर्जन डॉ. वीरेंद्र यादव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग शहर के उन इलाके में कोरोना जांच शिविर का लगाएगा जहां पर ज्यादा मरीजों की संख्या रही। इसमें रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट किट से फ्री जांच की जाएगी। जिसमें 20 से 30 मिनट में पता चल जाएगा कि मरीज कोरोना ग्रस्त है या नहीं। यह अभियान 30 जून से शुरू होकर 14 जुलाई तक चलेगा।

coronavirus COVID-19
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned