प्रथम श्रेणी से दसवीं परीक्षा पास करने वाले सबसे बुजुर्ग परीक्षार्थी बने चौटाला

शिक्षा बोर्ड चेयरमैन ने फोन कर बताया नतीजा

By: Devkumar Singodiya

Updated: 04 Sep 2021, 07:46 PM IST

 

भिवानी. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने 86 वर्ष की उम्र में पिछली 18 अगस्त को दसवी की परीक्षा दी, जिसका परिणाम शनिवार को घोषित हुआ। इसमें चौटाला ने अंग्रेजी विषय में 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किए।

दसवीं ओपन परीक्षा के परिणामों की घोषणा के बाद बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने चौटाला को फोन कर उनके पीए को परिणाम की सूचना दी। उन्होंने बताया कि चौटाला का दसवीं का इंग्लिश विषय का परिणाम नहीं आने के कारण हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने उनका 12वीं का परिणाम भी रोक रखा था।

गौरतलब है कि दसवीं ओपन के तहत अंग्रेजी की परीक्षा चौटाला ने सिरसा के आईएस सीनियर सैकेंडरी स्कूल में राईटर के माध्यम से दी थी। बोर्ड के नियमानुसार राईटर के एक कक्षा नीचे का 50 प्रतिशत अंक लेने वाला यानी जिस छात्र के नौवीं में 50 प्रतिशत अंक हैं, वह दसवीं कक्षा के छात्र का राईटर बन सकता है। उन्होंने बोर्ड बुजुर्ग व दिव्यांग होने के नाते राईटर की मांग की थी। इस पर नौवीं कक्षा में 50 प्रतिशत अंक पाने वाली एक बेटी ने उनके राइटर के रूप में कार्य किया था। इसी का परिणाम अब हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया है। अंग्रेजी के अंकों को जोडऩे के बाद चौटाला प्रथम श्रेणी से दसवीं कक्षा पास कर चुके हैं।

Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned