सीएम खट्टर होंगे गुरुग्राम शिकायत निवारण कमेटी के अध्यक्ष

Haryana:अनिल विज को हुड्डा व चौटाला के गृह जिले सौंपे

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने सत्ता में आने के बाद जिला परिवेदना एवं शिकायत निवारण समितियों का गठन कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल पिछले कार्यकाल की तरह इस बार भी गुरुग्राम जिला शिकायत निवारण समिति के अध्यक्ष होंगे। सरकार की सिफारिश पर राज्यपाल सत्यदेव नारायाण आर्य ने जिला शिकायत निवारण कमेटियों का पुनर्गठन कर दिया है।
कमेटियों को मासिक बैठकों का आयोजन करके जनता की शिकायतों का निवारण करने के निर्देश दिए हंै। राज्यपाल द्वारा इस सबंध में अधिसूचना जारी किए जाने के बाद अब प्रदेश सरकार जिला स्तर पर इन कमेटियों के सदस्य नियुक्त करेगी। इन नियुक्तियों के माध्यम से भाजपा व जजपा द्वारा अपने कार्यकर्ताओं एवं स्थानीय नेताओं को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा।
राज्यपाल द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार मुख्यमंत्री मनोहर लाल गुरुग्राम जिला शिकायत निवारण समिति के अध्यक्ष होंगे। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को फरीदाबाद तथा पानीपत जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मनोहर सरकार में प्रोटोकॉल के हिसाब से तीसरे नंबर वाले गृहमंत्री अनिल विज को इस बार पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का गृह क्षेत्र रोहतक तथा पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला का गृहक्षेत्र सिरसा आबंटित किया गया है।
इसी तरह शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर को मुख्यमंत्री का गृह जिला करनाल तथा गृहमंत्री अनिल विज का गृह जिला अंबाला अलाट किया गया है। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा सोनीपत व कैथल जिला शिकायत निवारण समिति के अध्यक्ष होंगे। बिजली मंत्री रणजीत सिंह चौटाला को पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु का पुराना क्षेत्र हिसार तथा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला का जिला फतेहाबाद अलाट किया गया है। कृषि मंत्री जेपी दलाल को चरखी दादरी तथा पूर्व मंत्री रामबिलास शर्मा का पैतृक जिला महेंद्रगढ़ अलाट किया गया है।
सहकारिता मंत्री डॉ.बनवारी लाल नूंह तथा पलवल जिला शिकायत निवारण समिति के अध्यक्ष होंगे। राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव को रेवाड़ी तथा झज्जर, महिला एवं बाल विकास मंत्री कमलेश ढांडा को कुरूक्षेत्र जिले की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जजपा कोटे से एकमात्र मंत्री अनूप धानक को भिवानी तथा जींद जिलों का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। खेलकूद मंत्री संदीप सिंह को पंचकूला तथा यमुनानगर जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा द्वारा जारी पत्र के अनुसार इन कमेटियों के गठन का मुख्य उद्देश्य जनता के प्रतिनिधियों की जनता के बीच मौजूदगी को सुनिश्चित बनाने के साथ-साथ जनता को विभागीय तथा प्रशासनिक समस्याओं से छुटकारा दिलाना है। यह समितियां तुरंत प्रभाव से सक्रिय होंगी।

हरियाणा की ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Chandra Prakash sain
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned