भारत से इराक भेजी जा रहीं नशीली दवाइयां, चार इराकी गिरफ्तार, 74.55 लाख रुपये और कोरोना के इंजेक्शन बरामद

हरियाणा के गुरुग्राम में छापामारी, भारी मात्रा में प्रतिबन्धित नशीली गोलियां व कोरोना के इलाज में प्रयोग होन वाले इन्जेक्शन बरामद

By: Bhanu Pratap

Updated: 28 Jul 2020, 07:40 PM IST

गुरुग्राम। हरियाणा पुलिस को नशीली दवाइयों तथा नशा तस्करों के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली है। भारत से इराक में अवैध रूप में नशीली दवाओं के सप्लाई करने वाले चार इराकी नागरिकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 74 लाख 55 हजार 500 रुपये, एक कार और भारी मात्रा में प्रतिबन्धित नशीली गोलियां व जीवन रक्षक इन्जेक्शन बरामद किए गए हैं। आरोपी पढ़ाई के नाम पर वीजा लेकर भारत आए थे। वर्ष 2016 से प्रतिबन्धित नशीली दवाओं को सप्लाई करने का धंधा कर रहे हैं।

एक साथ दो जगह छापा

अमनदीप सिंह चौहान ड्रग्स कन्ट्रोल ऑफिसर, डीएसपी सीएम प्लाइंड स्कावयड, एसीपी सदर व अपराध शाखा सेक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम को भारत से इराक में नशीली दवाओं की सप्लाई करने का धन्धा करने के सम्बन्ध में सूचना प्राप्त हुई। यह भी ज्ञात हुआ कि इन नशीली दवाओं की स्पलाई करने वाले आरोपी सेक्टर-57 व सेक्टर-47, गुरुग्राम में रहते है। इसके बाद दो छापामार दल बनाए गए। मकान नं. डी-701, अलोहा गुरुग्राम ग्रुप हाउसिंग, सेक्टर-57, गाँव तिगरा, गुरुग्राम तथा मकान नं. 478/पी सेक्टर-47, गुरुग्राम में छापा मारा गया। सेक्टर-57 में उक्त मकान के पते पर ईराक मूल के दो युवक मिले। इनके कब्जा से कुल 35 लाख 50 हजार रुपयों की नगदी तथा भारी मात्रा में नशीली दवाओं की गोलियां व इन्जेक्शन मिले। इसी प्रकार दूसरी टीम जब सेक्टर-47 में मकान के पते पर पहुंची तो वहां पर दो युवक ईराक मूल के मिले। इनके कब्जा से 39 लाख 05 हजार 500 रुपयों की नकदी तथा भारी मात्रा में प्रतिबन्धित नशीली दवाओं की गोलियां व इन्जेक्शन मिले।

नहीं दिखा सके दस्तावेज

पुलिस ने बरामद नशीली दवाओं के बारे में इन युवकों से वैध लाइसेन्स प्रस्तुत करने के लिए कहा तो वे कोई कागजात पेश नहीं कर सके। इस पर अलग-अलग दो शिकायतें थाना सेक्टर-56 व थाना सदर, गुरुग्राम के थाना प्रभारियों को अभियोग अंकित करने के लिए दी गई। इन शिकायतों पर सम्बन्धित धाराओं के तहत सम्बन्धित थानों में कुल अभियोग अंकित किए गए।

गिरफ्तार अभियुक्त

1. AKRAM FAIZ S/O DEZ R/O BAGDAD, IRAQ, AGE-21 YEARS, EDUCATION 12TH.

2. AWS RAAD NEALMAH AL HENDI S/O RAAD, IRAQ, AGE-31 YEARS, EDUCATION BCA.

3. MOHANAD S/O KEYAD R/O BAGDAD, IRAQ, AGE-26 YEARS, EDUCATION D-PHARMACY.

4. OTHMANA S/O AEED R/O BAGDAD, IRAQ, AGE-27 YEARS, EDUCATION D-PHARMACY.

भारत में पढ़ने आए थे, नशीली दवाइयों का काम करने लगे

पूलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उक्त आरोपी AKRAM FAIZ व AWS RAAD NEALMAH AL HENDI वर्ष 2013 में इराक से पूना पढ़ाई के लिए आए थे। उसके बाद वर्ष 2016 में ये गुरुग्राम आ गए और भारत से इराक में नशीली दवाओं की सप्लाई का काम करने लगे। वीजा अवधि समाप्त होने के बाद इन्होनें रिफ्यूजी (शरणार्थी) स्टेटस ले लिया था तथा उसी आधार पर यहां रह रहे थे। MOHANAD, OTHMANA ने पुलिस पूछताछ में बताया कि ये वर्ष 2017 में पढाई के लिए भारत आए थे। वापस नहीं गए। इराक में नशीली दवाओं की स्पलाई का काम करने लगे। अभी ये दोनों बैंगलोर से डी-फार्मेसी की पढ़ाई कर रहे हैं। AKRAM FAIZ व AWS RAAD NEALMAH AL HENDI के कब्जा से 35 लाख 50 हजार रुपये न नशीली दवाइयां बरामद कीं। आरोपी MOHANAD व OTHMANA के कब्जा से 39 लाख 05 हजार 500 रुपये व नशीली गोलियां बरामद कीं।

कोरोना के इलाज में प्रयोग होने वाले इंजेक्शन मिले

दूसरी टीम (थाना सदर) द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों से कोरोना बीमारी में इलाज के लिए प्रयोग होने वाले इन्जेक्शन भी बरामद हुए है। जिनकी कोविड-19 की बीमारी में प्रयोग होने के कारण मार्केट में काफी कमी है, किन्तु ये लोग गलत तरीके से इनको इराक भेजने की फिराक में थे।

उज्बेकिस्तान की महिला भी साथ में थी

थाना सदर, गुरुग्राम के एरिया में की गई छापामारी के दौरान आरोपियों (MOHANAD व OTHMANA) के मकान में उज्बेकिस्तान की एक महिला रह रही थी। जिससे पूछताछ में ज्ञात हुआ था कि ये जनवरी- 2020 में भारत आई थी और कोरोना महामारी के चलते फ्लाइट बन्द होने के कारण यह वापस नहीं जा सकी। युवती के बारे में व इसके वीजा के बारे संबंधित एम्बेसी से जानकारी प्राप्त की जा रही है।

Drugs smuggler
coronavirus
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned