दिल्ली- जयपुर हाईवे खेडकी दौला टोल से हरियाणा पुलिस खफा, आपातकालीन व वीआईपी लेन का दुरुपयोग

दिल्ली- जयपुर हाईवे खेडकी दौला टोल से हरियाणा पुलिस खफा, आपातकालीन व वीआईपी लेन का दुरुपयोग
toll plaza file

| Publish: Jul, 16 2018 08:42:22 PM (IST) Gurugram, Haryana, India

यातायात पुलिस थाने की ओर से पुलिस उपायुक्त यातायात को एक पत्र लिखा है जिस में कहा गया है की खेटकी दौला टोल प्लाजा में ठेकेदार द्वारा आपातकालीन एंव वीआईपी लेन का दुरुपयोग किया जा रहा हैं।

(गणेश सिंह चौहान की रिपोर्ट)

खेडकी दौला,गुरुग्राम। दिल्ली- जयपुर हाईवे पर खेडकी दौला टोल से हरियाणा पुलिस परेशान है। यातायात पुलिस थाने की ओर से पुलिस उपायुक्त यातायात को एक पत्र लिखा है जिस में कहा गया है की खेटकी दौला टोल प्लाजा में ठेकेदार द्वारा आपातकालीन एंव वीआईपी लेन का दुरुपयोग किया जा रहा हैं। जिस के कारण कई बार जाम के कारण वीआईपी लेन में खेडे रहते है और गाज पुलिस के जवानों पर गिरती हैं। जबकि भारत सरकार की ओर से सेना,आपातकालीन और वीआईपी के आने -जाने के लिए अलग लेन बनाई हुई हैं।

 

दिशानिर्देशों का पालन नहीं

 

यातायात पुलिस थाने के प्रमुख जयप्रकाश ने आपातकालीन एंव वीआईपी
लेन पर टोल संग्रह खिड़कियां सील करने की मांग की है। जयप्रकाश ने पत्र में यह भी लिखा है की टोल कर्मचारियों को आम तौर पर टोल फीस एकत्र करने के लिए वीआईपी लेन की खिड़की केबिन में बैठे देखा जाता है। इस अवैध गतिविधि को रोकने के लिए ऑपरेटर से कई बार पूछा गया ,लेकिन वे अनिवार्य दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए तैयार नहीं हैं।


जाम तीन से पांच घंटो तक

 

एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि इन लेन को आपातकालीन सेवाओं या वीआईपी वाहनों के लिए मुक्त रखा जाना चाहिए। जब टोल प्लाजा पर भारी ट्रैफिक जाम होते हैं तो टोल ऑपरेटर यातायात पुलिस के हस्तक्षेप के बिना बूम (अवरोध) को नहीं हटाता है जिसक चलते कई बार तो जाम तीन से पांच घंटो तक लगा रहता है। तथा जब टोल पर प्रतीक्षा समय चार मिनट से अधिक हो जाता है और वाहनों की कतार 500 मीटर से अधिक हो जाती है उस समय जाम को खुलवाने के लिए यातायात पुलिस को भारी परेशानी होती है जबकि 500 मीटर जाम के बाद बूम (अवरोध) हटा दिया जाना चाहिए लेकिन ऑपरेटर ने नियम का पालन नहीं करते हैं। स्काइलार्क कंपनी के किरपाल सिंह ने पत्रिका को बताया की हम टोल प्लाजा की मुख्य रियायत कंपनी मिलेनियम सिटी एक्सप्रेसवे प्राइवेट लिमिटेड द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned