हरियाणा में एयर टर्बाइन फ्यूल पर वैट दरों में रेकार्ड कमी, 20 प्रतिशत से घटाकर 1 प्रतिशत किया

गुरुग्राम में विकसित किया जाएगा हेलीकॉप्टर हब
नागर विमानन यूनिवर्सिटी और ड्रोन स्कूल पर फैसला शीघ्र

By: Devkumar Singodiya

Published: 13 Oct 2021, 07:09 PM IST

गुरुग्राम. गुरुग्राम में हेली-हब (हेलीकॉप्टर हब) स्थापित किए जाने की दिशा में हरियाणा सरकार द्वारा भूमि को चिन्हित कर केन्द्र सरकार को शीघ्र प्रस्ताव भेजा जाएगा। हरियाणा सरकार द्वारा एयर टर्बाइन फ्यूल पर वैट दरों को 20 प्रतिशत से घटाकर 1 प्रतिशत तक कम किया जाना निश्चित किया गया है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नई दिल्ली में केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से बैठक के बाद यह जानकारी दी। बैठक में हरियाणा की विभिन्न महत्वपूर्ण नागर विमानन परियोजनाओं के संदर्भ में विचार-विमर्श हुआ। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला वीसी के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

 

नागर विमानन यूनिवर्सिटी और ड्रोन स्कूल पर निर्णय शीघ्र

बैठक में गुरुग्राम में स्थापित किए जाने वाले हेली-हब और राज्य में नागर विमानन विश्वविद्यालय, ड्रोन स्कूल, सेटेलाइट सेंटर के अतिरिक्त एयर टरबाइन फ्यूल पर वैट दरों को कम किए जाने के संदर्भ में चर्चा हुई। इसके अलावा, एकीकृत विमानन हब हिसार, हवाई पट्टी करनाल, हवाई पट्टी अंबाला के विकास और पायलेट प्रशिक्षण स्कूल, भिवानी व पायलेट प्रशिक्षण स्कूल नारनौल और विमान सेवाओं के रूट पर भी चर्चा हुई।

 

दो साल में किया जाएगा विकसित

मुख्यमंत्री ने बताया कि गुरुग्राम में हेली-हब स्थापित किए जाने के लिए भूमि को चिन्हित कर केंद्र को शीघ्र ही प्रस्ताव भेजा जाएगा। हेली-हब स्थापित होने पर इंटरसिटी व इंट्रासिटी हेलीकॉप्टर की सुविधा होने से हवाईअड्डे को भी सपोर्ट मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि एकीकृत विमानन हब, हिसार को वर्ष 2023 तक विकसित कर लिया जाएगा। करनाल व अंबाला की हवाई पट्टियों का भी विकास करवाया जाएगा।

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned