THUNDERSTORM: आंधी और ओलावृष्टि: घर की छत और टीनशैड़ टूटी, किसान हुआ बेघर

घर में रखे फ्रीज, कूलर और बेड टूटे, पटवारी ने लिया नुकसान का जायजा

By: Devkumar Singodiya

Published: 30 May 2020, 07:05 PM IST

गुरुग्राम/फिरोजपुर झिरका (गणेश सिंह चौहान). नूंह के गांव मुरादबास में शुक्रवार को उस समय एक किसान का परिवार बाल-बाल बच गया, जबकि तेज आंधी में उसके दो मकानों की छतें टूट गई। कुछ कच्चे घरों से टीन उडऩे के साथ-साथ कच्चे घर भी टूट गए। तेज आंधी में किसान का बड़ा नुकसान हो गया। एसड़ीएम नूंह प्रदीप अहलावत ने नुकसान का आंकलन करने के लिए हल्का पटवारी को मौके पर भेजा।

नूंह ब्लाक के गांव मुरादबास में किसान इस्हाक अपनी पत्नी जरीना एवं छह बच्चों के साथ घर पर ही थी। अचानक आंधी चलने लगी और तेज आवाज के साथ उसके दो कमरों की छत टूट गई। इस्हाक का परिवार घर से निकलकर एक पेड़ की नीचे आ गया। थोड़ी देर बाद जब आंधी रुकी तो उसने देखा की उसके कच्चे छप्पर, टीन उड़कर दूर जा गिरी।

छतों के टूटकर गिरने से उसके फ्रीज, कूलर तथा बैड़ भी टूट गए। आंधी में जिस तरह से तेज आवाज के साथ मकान की छत टूटी, उसकी वजह से पूरे परिवार के चहरे पर दहशत व्याप्त हो गई। पीडि़त के अनुसार बहुत मुश्किल से आशियाना बनाया था। वह टूटकर बिखर गया है। नुकसान होने पर एसडीएम ने पटवारी और गिरदाव को मौके पर भेजकर नुकसान का आंकलन करने के निर्देश दिए।


रिपोर्ट मिलने पर करेंगे कार्यवाही
नायब तहसीलदार को कह दिया था कि वे पटवारी एवं गिरदावर को मुरादबास गांव में भेजकर नुकसान का आंकलन करें। रिर्पोट आने पर आगामी कार्रवाही की जाएगी।
प्रदीप अहलावत, एसड़ीएम नूंह।

हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned