37 हजार पर 200 संक्रमित निकले, 12 लाख के आने पर क्या हाल होगा, असम सरकार परेशान

( Assam News )राज्य के बाहर रहने वाले लोगों के ( Migrant labour increased infection ) वापस से लौटने से कोरोना संक्रमितों की संख्या में भारी उछाल आया है। राज्य में अब तक 37 हजार लोगों के आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर दौ सौ पार कर गई है। यदि 12 लाख लोग ( What will happen after 12 lac return ) और आने बाकी है तब यह आंकड़ा कहां पहुंचेगा।

By: Yogendra Yogi

Updated: 22 May 2020, 06:45 PM IST

गुवाहाटी(असम)राजीव कुमार: ( Assam News ) राज्य के बाहर रहने वाले लोगों के ( Migrant labour increased infection ) वापस से लौटने से कोरोना संक्रमितों की संख्या में भारी उछाल आया है। राज्य में अब तक सैंतीस हजार लोगों के आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर दौ सौ पार कर गई है। सिर्फ चार दिनों में यह संख्या चार गुणा बढ़ गई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डा.हिमंत विश्व शर्मा कहते हैं कि इतने लोगों के आने से यदि कोरोना की संख्या दौ सौ के पार हो गई है तो 12 लाख लोग ( What will happen after 12 lac return ) और आने बाकी है तब यह आंकड़ा कहां पहुंचेगा, यह सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

क्वारेंटाइन पर होगी सख्ती
मंत्री ने कहा कि चार मई को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जब राज्यों के बीच आने-जाने को अनुमति प्रदान की तब से इस संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। डा. शर्मा ने कहा कि हमें इन आंकड़ों को देखते हुए मानवीय भावनाओं के साथ-साथ कड़ाई रखते क्वारंटीन को लागू किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि हमारे यहां अधिकतर संक्रमित मरीज राज्य के बाहर से आ रहे हैं। मामले और बढेंगे जिसके लिए हमें क्वारंटीन नीति को प्रभावी तरीके से लागू करना होगा नहीं तो संक्रमण समुदाय में फैल जाएगा।

आने से पहले सोच लें, क्वारेंटाइन में जाना होगा
उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को अनिवार्य रुप से सरकारी क्वारंटाइन केंद्र में जाना ही होगा और जांच निगेटिव आने पर उन्हें घर पर 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना होगा। मंत्री ने कहा कि दूसरे राज्यों से आने-वाले राज्य के लोग इस मानसिकता के साथ ही राज्य में लौटें कि उन्हें क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा।

बढ़ाई क्वारेंटाइन केंद्रों की संख्या
राज्य सरकार ने लोगों के आने की संख्या को देखते हुए क्वारंटाइन केंद्रों की संख्या काफी बढ़ा दी है। लेकिन राज्य में अम्फान चक्रवाती तूफान के प्रभाव से बारिश होने के कारण बाहर से आने वाले लोगों को पंजीकरण करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही विभिन्न जिला अस्पतालों में कोरोना के मरीज रखने शुरु किए हैं। पहले इन्हें तैयार किया गया था। लेकिन मरीजों की संख्या ज्यादा न होने से इन्हें आमजनों के लिए खोल दिया गया था।

Corona virus
Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned