पूर्वोत्तर के दो राज्यों के बीच फंसा कोरोना का एक मरीज

( Assam News ) एक कोरोना मरीज पूर्वोत्तर ( Northeast states ) के दो राज्यों के बीच फंस गया है। उसको नगालैंड के डिमापुर से इलाज के लिए गुवाहाटी मेडिकल कालेज ( Guwahati Medical College ) अस्पताल भेजा गया जहां उसका कोरोना ( Corona patient stuck in two states ) टेस्ट पॉजिटिव आया। अब नगालैंड इस व्यक्ति को असम का मामला बता रहा है। वहीं असम कोरोना की सूची में इसे शामिल नहीं कर रहा है।

By: Yogendra Yogi

Published: 18 Apr 2020, 07:25 PM IST

गुवाहाटी(असम)राजीब कुमार: ( Assam News ) एक कोरोना मरीज पूर्वोत्तर ( Northeast states ) के दो राज्यों के बीच फंस गया है। वैसे तो वह नगालैंड का निवासी है, लेकिन उसको नगालैंड के डिमापुर से इलाज के लिए गुवाहाटी मेडिकल कालेज ( Guwahati Medical College ) अस्पताल भेजा गया जहां उसका कोरोना ( Corona patient stuck in two states ) टेस्ट पॉजिटिव आया। अब नगालैंड इस व्यक्ति को अपने यहां का कोरोना पॉजिटिव न मानते हुए इसे असम का मामला बता रहा है। वहीं असम कोरोना की सूची में इसे शामिल नहीं कर रहा है। फिलहाल व्यक्ति का इलाज गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल में चल रहा है।

व्यापारिक मारवाड़ी घराने से ताल्लुक

यह तैंतीस वर्षीय व्यक्ति मारवाड़ी व्यक्ति नगालैंड के व्यापारिक हब डिमापुर का है। यह युवक नगालैंड में बसे पहले बड़े व्यापारिक मारवाड़ी घराने से है। लेकिन कोरोना की बीमारी के चलते जैसे वह बिना राज्य का हो गया है। नगालैंड अपनी कोरोना की सूची में उसे स्थान नहीं दे रहा है। उसे नगालैंड के डिमापुर के प्राइवेट अस्पताल से संकटजनक स्थिति में गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल(जीएमसीएच)लाया गया। उसका पहले ही नमूना जीएमसीएच भेजा गया था जो 12 अप्रैल को पॉजिटिव आया। उसे गुवाहाटी लानेवाले एंबुलेंस के ड्राइवर और साथ आए एक व्यक्ति को जीएमसीएच में ही क्वारंटाइन किया गया। बता दें कि तब तक नगालैंड में कोविड टेस्ट का इंतजाम नहीं हुआ था। डिमापुर से गुवाहाटी की दूरी 280 किमी है।

नगालैंड अपनी सूची को रख रहा है साफ

नगालैंड का स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग कह रहा है कि राज्य में कोई भी पॉजिटिव मामला नहीं है। नगालैंड के पॉजिटिव मामले को असम की सूची में शामिल किया गया है क्योंकि उसकी टेस्टिंग वहां हुई थी। नगालैंड के गृह आयुक्त अभिजीत सिन्हा कहते हैं कि उसकी टेस्टिंग जीएमसीएच में हुई है इसलिए उसका मामला नगालैंड का नहीं है। वहीं असम ने भी अपनी सूची में उसको स्थान नहीं दिया है। असम के स्वास्थ्य मंत्री डा.हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि मैं पहले भी कह चुका हूं कि यह नगालैंड का मामला है। हम इसे अपने में शामिल नहीं कर रहे हैं। वहां से भेजा गया इसलिए उसका इलाज जीएमसीएच में हो रहा है। मैं ट्वीट पर कही गई बात पर कायम हूं। उनके किसी भी ट्वीट में नगालैंड के व्यक्ति को शामिल नहीं किया गया है। सिर्फ एक ट्वीट में उन्होंने कहा था कि नगालैंड के एक प्राइवेट अस्पताल ने डिमापुर के एक व्यक्ति को जीएमसीएच भेजा था, जब उसमें कोविड-19 के लक्षण पाए गए थे।

अरुणाचल ने ऐसा नहीं किया

असम के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि व्यक्ति नगालैंड में कोरोना की चपेट में आया है। लेकिन उनके पास इस तरह के मामले देखने का इंतजाम नहीं था इसलिए उसे यहां भेजा गया। यदि नगालैंड अपनी सूची को साफ रखना चाह रहा है तो हम क्या कर सकते हैं। अरुणाचल प्रदेश में भी कोरोना एक मामला सामने आया था। व्यक्ति गैर अरुणाचली था। लेकिन राज्य ने उसे अपना मामला बताने से इनकार नहीं किया। अब वह बेहतर होकर रिलीज भी हो गया है।

Corona virus
Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned