असम के खुंखार 'लादेन' को पकड़ने जंगल में जाएंगे BJP विधायक, यूं करेंगे काबू

मालूम हो कि (Wild Animals) लादेन (Wild Elephants) ने पिछले हफ्ते ही (Assam Gwalpara Forest) ग्वालपाड़ा में पांच लोगों की हत्या कर दी थी, ड्रोन के जरिए वन विभाग (Animal Tracking) ने आतंक फैलानेवाले हाथी के रहने के स्थान का पता (Assam BJP MLA Padma Hazarika) लगाया था...

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): असम का वन विभाग एक जंगली हाथी लादेन को पकड़ नहीं पा रहा है। इसलिए अब उसे पकड़ कर नियंत्रित करने के लिए राज्य के सत्तारुढ़ विधायक को उतरना पड़ रहा है। चतिया के विधायक पद्म हजारिका ग्वालपाड़ा में आतंक फैला चुके लादेन को नियंत्रित करने के लिए खुद जा रहे हैं।


विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र से दो कुनकि(प्रशक्षित) हाथियों को लेकर ग्वालपाड़ा जाएंगे। इसमें उनकी मदद करेंगे गुवाहाटी के विशिष्ट व्यापारी तथा कई हाथियों के मालिक दुदुल चौधरी। मालूम हो कि 1987 से ही रामू नाम के कुनकी हाथी के पीठ पर सवार होकर जंगली हाथियों को खदेड़ने का नेतृत्व विधायक करते आए हैं। ग्वालपाड़ा में भी लादेन को नियंत्रित करने के लिए रामू पर सवार होकर विधायक प्रयास करेंगे। हजारिका ने कहा कि रामू विश्वासी और साहसी है। मेरे जीवन से जनता की सुरक्षा ज्यादा बड़ी है। जनता ने ही मुझे विधायक बनाया है। जनता के किसी भी संकट के दौरान मेरा उनके पास रहना बेहद जरुरी है। उन्होंने आगे कहा कि जंगली हाथी को पहले ग्वालपाड़ा जाकर शिनाख्त करना होगा। इसके लिए हमें काफी सतर्कता से आगे बढ़ना होगा।

 

यह भी पढ़ें: ड्रोन से मिला खूंखार लादेन का ठिकाना, इस वजह से ले रहा है लोगों की जान

 

मालूम हो कि हजारिका का बचपन हाथियों के बीच ही गुजरा है। दादाजी राधाकांत हजारिका के दिनों से ही उनके परिवार में कई हाथी हैं। इन हाथियों से खेलते हुए हजारिका ने हाथियों के बारे में काफी कुछ जाना समझा। बचपन में हाथियों के पीठ पर बैठकर अपने दोस्तों के साथ खेलते थे। बाद में हजारिका ने आतंक फैलाने वाले अनेक हाथियों को वापस जंगल भेजा है। अब वे ग्वालपाड़ा जाकर लादेन को नियंत्रित करने का प्लान बना चुके हैं।

 

यह भी पढ़ें: बड़े आतंकी संगठनों से जल्द शांति समझौता करेगा केंद्र, प्रमुख वार्ताकार ने कही यह बात


उधर राज्य के वन मंत्री परिमल शुक्ल वैद्य ने एक उच्च स्तरीय बैठक में लादेन को ट्रेंकुलाइज करने पर हरी झंडी दिखा दी है। मालूम हो कि लादेन ने पिछले हफ्ते ही ग्वालपाड़ा में पांच लोगों की हत्या कर दी थी। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इसके तुरंत बाद लादेन को ट्रेंकुलाइज करने का निर्देश दिया था। ड्रोन के जरिए वन विभाग ने आतंक फैलानेवाले हाथी के रहने के स्थान का पता लगाया था।

असम की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: असम: इन विशेष शर्तों पर रिहा होंगे डिटेंशन कैंपों में रह रहे विदेशी घोषित 57 लोग

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned