अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए पांच लोगों को वापस सौपेगा चीन

(Assam News ) चीन (China ) अरुणाचल प्रदेश (Arunchal Pradesh ) से लापता हुए पांच लोगों को वापस सौंपेगा। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट (Central minister Kiran Rijjiu tweet ) यह जानकारी दी है। केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, "चीनी पीएलए ने भारतीय सेना को अरुणाचल प्रदेश के युवाओं को हमारे पक्ष में सौंपने की पुष्टि की है।

By: Yogendra Yogi

Published: 11 Sep 2020, 11:43 PM IST

गुवाहाटी(असम): (Assam News ) चीन (China ) अरुणाचल प्रदेश (Arunchal Pradesh ) से लापता हुए पांच लोगों को वापस सौंपेगा। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट (Central minister Kiran Rijjiu tweet ) यह जानकारी दी है। केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, "चीनी पीएलए ने भारतीय सेना को अरुणाचल प्रदेश के युवाओं को हमारे पक्ष में सौंपने की पुष्टि की है। इन सभी को 12 सितंबर (शनिवार) को एक निर्धारित स्थान पर सौंपे जाने की प्रक्रिया कभी भी हो सकती है।

हॉटलाइन पर दिया जवाब
इससे पहले 8 सितंबर को किए अपने एक अन्य ट्वीट में केंद्रीय मंत्री ने कहा था, "चीन के पीएलए ने भारतीय सेना द्वारा भेजे गए हॉटलाइन संदेश का जवाब दिया है। उन्होंने पुष्टि की है कि अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए युवक उनकी तरफ मिल गए हैं। उन लोगों को हमारे अधिकारियों को सौंपने के अन्य तरीकों पर काम किया जा रहा है।"

भाग निकले दो ने दी थी जानकारी
बीते शनिवार को तागिन समुदाय के 5 लोगों, जो कि नाचो शहर के पास एक गांव के रहने वाले हैं, का चीनी सेना द्वारा अपहरण कर लिया गया था। इन पांच लापता भारतीयों के परिवारों ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। अरुणाचल पुलिस भी इन पांचों लोगों को खोज नहीं पाई। बताया गया कि इन्हें चीन की सेना ने अगवा किया है। लापता हुए इन पांच लोगों के साथ दो और लोग थे जो भाग निकलने में कामयाब हो गए, इन्होने ही पूरी जानकारी दी। अपहरण के वक्त वो जंगल में शिकार के लिए गए थे।

लापता पांचों की शिनाख्त
लापता हुए इन पांच लोगों के साथ दो और लोग थे जो लोग भाग निकलने में कामयाब हो गए, उन्होंने अन्य अगवा लोगों के बारे में जानकारी दी थी। अगवा हुए इन पांचों लोगों की पहचान टोच सिंगकम, प्रसात रिंगलिंग, डोंगटू इबिया, तानु बाकेर और नागरु दिरी के रूप में हुई। ये सीभी तागिन समुदाय के हैं। ऑल अरुणचल प्रदेश स्टूडेंट्स यूनियन (एएपीएसयू) ने केंद्र और राज्य सरकार से पांचों की सुरक्षित रिहाई सुनिश्चित कराने का अनुरोध किया था।

पहले चीन ने किया था इंकार
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने पहले कहा था कि उनके पास पांच गुमशुदा भारतीयों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। प्रवक्ता ने बताया कि इन पांचों की रिहाई को लेकर भारतीय सेना ने चीन की सेना (पीएलए) को संदेश भेजा था। ये पांचों 3 सितंबर से लापता हैं। लेफ्टिनेंट कर्नल हर्षवर्धन पांडेय ने कहा था, 'अभी तक हमें चीन की ओर से हॉट लाइन मेसेज का कोई जवाब नहीं मिला है।Ó

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned