असम में ऑयल इंडिया के तेल के कुए में विस्फोट, आबादी क्षेत्र खाली कराया

(Assam News ) असम के तिनसुकिया जिले स्थित सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल इंडिया लिमिटेड (ऑयल) के एक तेल कुए में विस्फोट (ब्लोआउट) होने ( Explosion in oil well of Oil India ) के बाद संयंत्र के आस-पास स्थित आबादी क्षेत्र को खाली कराने का काम शुरू हो गया है। विस्फोट के असर से डिबू्र सैखोवा राष्ट्रीय उद्यान के (Enviroment damaged) पास एक झील में कथित तौर पर मछलियों और डॉल्फिन की मौत हो गई।

By: Yogendra Yogi

Published: 31 May 2020, 05:39 PM IST

गुवाहाटी(असम): (Assam News ) असम के तिनसुकिया जिले स्थित सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल इंडिया लिमिटेड (ऑयल) के एक तेल कुए में विस्फोट (ब्लोआउट) होने ( Explosion in oil well of Oil India ) के बाद संयंत्र के आस-पास स्थित आबादी क्षेत्र को खाली कराने का काम शुरू हो गया है। इस विस्फोट मे किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। विस्फोट के असर से डिबू्र सैखोवा राष्ट्रीय उद्यान के (Enviroment losses) पास एक झील में कथित तौर पर मछलियों और डॉल्फिन की मौत हो गई।

काम चालू था
तिनसुकिया जिले में बागजान तेल क्षेत्र के तहत आने वाले बागजान-5 कुंए में अचानक से बहुत हलचल देखी गई। उस समय वहां गैस उत्पादन का काम चालू था। कुंए में विस्फोट को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी का छिड़काव किया गया है। साथ ही ब्लोआउट को रोकने वाली प्रणाली को लगाया गया है।

अत्यधिक दवाब से हुआ विस्फोट
कंपनी ने कहा कि वह आयल एंड नेचुरल गैस (ओएनजीसी) के विशेषज्ञों के साथ मिलकर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही है। तेल एवं गैस क्षेत्र में जब कभी कुंए के अंदर दबाव अधिक हो जाता है तो उसमें अचानक से विस्फोट होता है और कच्चा तेल या प्राकृतिक गैस अनियंत्रित तरीके से बाहर आने लगती है। इसे ही ब्लोआउट कहा जाता है। यह स्थिति कुंए के अंदर दबाव बनाए रखने वाली प्रणाली के सही तरीके से काम नहीं करने के चलते बनती है।

पर्यावरण नुकसान की जांच
मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष को घटनास्थल का दौरा कर तत्काल रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं। तिनसुकिया जिले में डिब्रु सैखोवा राष्ट्रीय उद्यान के पास बाघजन स्थित गैस कुआं में 27 मई को विस्फोट हुआ था। इसके बाद वहां से हजारों स्थानीय लोगों को हटाया गया था। पर्यावरण को हुए नुकसान के बारे में सरकार ने तिनसुकिया के प्रभागीय वन अधिकारी के माध्यम से ओआईएल को कल नोटिस भेजकर विस्तृत रिपोर्ट तलब की है।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned