भीतरी मणिपुर लोकसभा सीट पर मतदान संपन्न

भीतरी मणिपुर लोकसभा सीट पर मतदान संपन्न
vote file photo

Prateek Saini | Publish: Apr, 18 2019 08:38:12 PM (IST) Guwahati, Kamrup Metropolitan, Assam, India

इससे पहले बाहरी मणिपुर लोकसभा सीट (अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं) के लिए मतदान पहले चरण में 11 अप्रैल को हो चुका है, जिस पर 84.25 फीसदी मतदान हुआ था...

(इम्फ़ाल): ललोकसभा चुनावों के दूसरे चरण में आज मणिपुर की दूसरी और आखरी लोकसभा सीट “भीतरी मणिपुर” पर 70 फीसदी मतदान होने की खबर है। इससे पहले बाहरी मणिपुर लोकसभा सीट (अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं) के लिए मतदान पहले चरण में 11 अप्रैल को हो चुका है, जिस पर 84.25 फीसदी मतदान हुआ था। भीतरी-मणिपुर लोकसभा सीट पर सत्तारूढ़ भाजपा ने आर. के. रंजन सिंह को प्रत्याशी बनाया है, जो 2014 के चुनाव में असफल रहे थे। वही कांग्रेस ने मौजूदा सांसद एमपी थोकचोम मैनया की जगह राज्य के पूर्व मुख्य सचिव ओ. नाबाकिशोर को उम्मीदवार बनाया है। मेघालय की सत्तारूढ़ नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) जो मणिपुर में सत्तारूढ़ गठबंधन की मुख्य सदस्य है, ने सीपीआई के साथ मतदान से एक सप्ताह पहले ही गठबंधन किया था। राज्य विधानसभा में इसके चार विधायक हैं और चारों ही बीजेपी के नेतृत्व में बी एन सिंह की सरकार में मंत्री हैं, जिनमें यूमनम जोयकुमार तो राज्य के उपमुख्यमंत्री हैं। एनपीपी ने इस सीट पर सीपीआई के प्रत्याशी एम. मारा को समर्थन दिया है।

 

मारा ने कहा, “मैंने अपनी ज़िंदगी में पिछले 12 चुनाव लड़े हैं और यह चुनाव मेरे लिए सबसे अच्छा और आखिरी है। मेरे पास एक रुपैया भी नही है और मैं लोगों के सामूहिक तौर पर एकत्रित किए गए पैसे पर निर्भर हूं। कुछ लाख रुपए लोगों द्वारा दान किया गया है। अगर मैं निर्वाचित होता हुं तो मैं असफल नहीं होऊंगा और लोगों की विभिन्न समस्याओं के लिए लड़ाई लड़ूंगा। इस सीट से मणिपुरी फिल्म कलाकार आर के सोमोरेन्द्रो निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि सोमोरेन्द्रो को चुनाव प्रचार समाप्त होने से एक दिन पहले एक राजनीतिक झटका मिला जब गायक और कलाकार बोनेय-एम और आर के हेमबाती इम्फ़ाल के प्रसिद्ध महिला बाज़ार में बीजेपी के उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करते हुए नजर आए थे। इससे पहले आर के आनंद के नेतृत्व में कांग्रेस के चार अन्य पूर्व विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा देकर पूर्वोत्तर भारत विकास पार्टी (एनईआईडीपी) बनाई थी। आनंद खुद इस पार्टी के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned