NorthEaset: त्रिपुरा के साठ परिवार ईद-उल-जुहा मनाने से हुए वंचित

NorthEaset: त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से 10 किमी दूर आइचा बाजार में 60 मुस्लिम परिवारों ने ईद-उल-जुहा नहीं मनाया। उन्हें कुर्बानी के खिलाफ असामाजिक तत्वों की धमकियां मिली थी।

By: Yogendra Yogi

Published: 13 Aug 2019, 06:35 PM IST

NorthEaset: गुवाहाटी ( राजीव कुमार), जब मुस्लिम संप्रदाय के लोग देश भर में ईद-उल-जुहा मना रहे थे तब त्रिपुरा ( Tripura ) की राजधानी अगरतला से 10 किमी दूर आइचा बाजार में 60 मुस्लिम परिवारों ने ईद-उल-जुहा ( Eid not celebrate ) नहीं मनाया। उन्हें कुर्बानी के खिलाफ असामाजिक तत्वों ( Bad Elements ) की धमकियां मिली थी। धमकी देने का आरोप विश्व हिंदू परिषद (विहिप) पर लगा ( VHP ) है। आइचा बाजार मस्जिद के पास रहनेवाले सुबल मियां ने कहा कि इस इलाके में हिंदू-मुस्लिम परिवार पिछले चार दशकों से रह रहे हैं। लेकिन उन्हें पहले इस तरह ईद-उल-जुहा मनाने से कभी नहीं रोका गया। हमने पुलिस,स्थानीय विधायक और जिला मजिस्ट्रेट से मुलाकात की। लेकिन उनसे भी कोई सकारत्मक संकेत नहीं मिला। मियां ने कहा कि कुछ असामाजिक तत्वों ने हमें कुर्बानी न देने की हिदायत दी। हनुपा खातून(52) ने कहा कि इसके पहले हमें किसी ने कुर्बानी देने से इस तरह नहीं रोका था।

माकपा की राज्य इकाई के सदस्य पवित्र कर ने कहा कि सुरक्षा की कमी के चलते इस तरह की घटनाएं होती है। त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष तापस दे ने कहा कि सत्तारुढ़ भाजपा राज्य के सांप्रदायिक माहौल को बिगाडऩ चाहती है। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता नवेंदु भट्टाचार्य ने कहा कि विहिप एक स्वतंत्र संगठन है। सत्तारुढ़ भाजपा से इसका कोई लेना-देना नहीं है। हम किसी भी तरह की हिंसा का समज़्थन नहीं करते जो सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ती है। यह विपक्षी माकपा का राज्य में सांप्रदायिक सदï्भाव नष्ट करने का षड्य़ंत्र है। विहिप के पश्चिम त्रिपुरा के जिला सचिव पार्थ प्रतीम सरकार ने कहा कि हमारे संगठन की ओर से इसमें कोई शामिल नहीं है। हमारी उस इलाके में कोई इकाई नहीं है।

Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned