निभाने वाले ऐसे भी निभा सकते हैं अपना फर्ज

( Arunchal pradesh News ) जिन्हें अपना फर्ज निभाने की तमन्ना होती है, वे किसी का इंतजार नहीं करते। ( unique way of social distancing ) अरुणाचल प्रदेश में एक डाक्टर ने ( doctor paying social duty ) आलो स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के बाहर 53 छाते लगाए हैं ताकि भीषण गर्मी में बैंक में आनेवाले ग्राहक सोशल डिस्टेंसिंग का आराम से पालन कर सके।

By: Yogendra Yogi

Published: 14 May 2020, 08:34 PM IST

ईटानगर(अरुणांचल प्रदेश)राजीव कुमार: ( Arunchal pradesh News ) जिन्हें अपना फर्ज निभाने की तमन्ना होती है, वे किसी का इंतजार नहीं करते। पेशे से एक चिकित्सक ने यह साबित कर दिया कि पेशेवर दायित्व के अलावा सामाजिक दायत्वि भी अकेले निभाया जा सकता है। पूर्वोत्तर के राज्य सोशल डिस्टेंसिंग ( unique way of social distancing ) को लेकर नायाब तरीके अपना रहे हैं। अरुणाचल प्रदेश में एक डाक्टर ने ( doctor paying social duty ) सोशल डिस्टेंसिंग के लिए यह नायाब तरीका अपनाया है। उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के आलो स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा के बाहर 53 छाते लगाए हैं ताकि भीषण गर्मी में बैंक में आनेवाले ग्राहक सोशल डिस्टेंसिंग का आराम से पालन कर सके।

भीड को नियंत्रित करने की कोशिश
इटानगर से 370 किमी दूर पश्चिम सियांग जिले का मुख्यालय है आलो। डा.जूमजे पाडू एक सक्रिय कोरोना वारियर्स है। डा.पाडू के इस नायाब तरीके को एक गैर सरकारी संगठन किबोम ओल्ड एज वेलफेयर सोसाइटी (केओएडब्ल्यूएस)और मेसर्स इंटरनेशनल डायगोनास्टिक सेंटर का समर्थन प्राप्त है। अधिकारियों ने बताया कि अरुणाचल ग्रीन जोन में आता है। लॉकडाउन में रियायत देने के बाद हर रोज बैंकों मे भारी संख्या में ग्राहकों का आना जारी है। लेकिन इन लोगों को कतार में सोशल डिस्टेंसिंग मानकर खड़े रखना एक बड़ी चुनौती थी।

डाक्टर की प्रशंसा की प्रशासन ने
जिला प्रशासन ने इसके लिए नायाब तरीका ढूंढने को कहा तो डा.पाडू तुरंत छाते का शेड बनाने आगे आए। इससे प्रशासन को सोशल डिस्टेंसिंग को लागू कराने में सहूलियत हुई। इससे दूसरी ओर ग्राहकों को गर्मी और बरसात से बचकर सोशल डिस्टेंसिंग मानने में आसानी होती है। छाते के शेड को केओएडब्ल्यूएस के वालंटियर नियंत्रित करते हैं। पुरुष और महिला ग्राहकों के आने-जाने के लिए अलग-अलग द्वार है।

मास्क फॉर ऑल कैंपेन
पश्चिम सियांग जिले के जिला उपायुक्त स्वेतिका सचान ने इलाके का दौरा कर डा.पाडू और के ओएडब्ल्यूएस की प्रशंसा की। डा.पाडू ने सिर्फ छाते के शेड ही नहीं बनाए बल्कि विभिन्न सेल्फ हेल्प ग्रूपों को हाथ से मास्क बनाने के लिए प्रेरित किया। इस प्रयास को अरुणाचल प्रदेश डाक्टरर्स एसोसिएशन की वेस्ट सियांग इकाई ने मदद की। एसोसिएशन ने मास्क फॉर आल कैंपेन के तहत मास्क का वितरण किया है।

Corona virus
Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned