लॉकडाउन के बीच मेघालय और असम में खुलेंगी शराब की दुकानें

मेघालय के आबकारी आयुक्त के आदेश में कहा गया है (Wine Shops To Open In Assam And Meghalaya During Lockdown) कि...

By: Prateek

Published: 12 Apr 2020, 10:57 PM IST

राजीव कुमार

शिलांग: लॉकडाउन के बीच मेघालय और असम सरकार ने शराब की दुकानें खुलने का फैसला किया है। सोमवार से सुबह नौ बजे से दोपहर चार बजे तक दुकानें खुली रहेंगी। मेघालय के आबकारी आयुक्त की ओर से जारी आदेश में यह जानकारी दी गई। असम में सुबह दस बजे से अपराह्न पांच बजे तक शराब की दुकानें खोलने का निर्णय लिया गया है।

 

 

मेघालय के आबकारी आयुक्त के आदेश में कहा गया है कि राज्य सरकार ने 13 अप्रैल से 17 अप्रैल तक शराब की दुकानें और बांडेड वेयरहाउस खोलने को मंजूरी दी है। आदेश में शराब की दुकानों को अपने कर्मचारियों से सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था बनाए रखने के लिए कहा गया है। शराब की दुकानों को यह निजी स्तर पर सुनिश्चित करना होगा। इसमें कहा गया है कि प्रत्येक घर से एक ही व्यक्ति को शराब की दुकान तक आकर शराब की बोतलें खरीदने की छूट होगी। ऐसा करते हुए व्यक्ति एक इलाके से दूसरे इलाके में नहीं जा सकेगा। शराब की दुकानों को न्यूनतन कर्मचारियों के साथ काम करने को कहा गया है। साथ ही ग्राहक और कर्मचारियों को नगदी लेने और बोतलें देने के दौरान हेंड सेनटाइजर का उपयोग करने को कहा गया है। आदेश में कहा गया है कि जिन इलाकों में शराब की दुकानें नहीं होंगी वहां होम डिलेवरी की जाएगी।


मालूम हो कि इससे पहले मेघालय सरकार ने स्वास्थ्य कारणों के मद्देनज़र शराब की होम डिलीवरी की अनुमति लॉकडाउन के दौरान दी थी। तब पंजीकृत डाक्टरों की पर्ची के आधार पर ही इसे घर पर मुहैया कराने का इंतजाम किया गया था। तब मेघालय के आबकारी आयुक्त बी सियामिह ने एक आदेश में कहा था कि राज्य सरकार ने पंजीकृत चिकित्सकों द्वारा जारी चिकित्सा पर्चे के बदले सख्ती से स्वास्थ्य आधार पर शराब की होम डिलीवरी की मंजूरी दी थी।पत्र में कहा गया था कि अधिकृत गोदामों को 14 अप्रैल तक शराब की बिक्री और होम डिलीवरी की अनुमति दे रही है। मेघायल में अब तक कोई कोविद -19 पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है। आदेश में तब स्पष्ट कहा गया था कि यह एक अस्थायी प्रावधान है। आबाकारी नियमों के अनुसार बांडेड वेयरहाउस शराब की खुदरा बिक्री नहीं कर सकते हैं। इसलिए जरुरतमंद ग्राहकों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह प्रबंध करने की बात कही गई थी। आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग से विचार-विर्मश करने के बाद य़ह आदेश जारी किया गया था।स्वास्थ्य विभाग की अनुशंसा पर ही इसे लाया गया था।

Coronavirus Outbreak
Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned