एलएनआईपीई का चौथी बार चैंपियन बनने का सपना टूटा

तीन बार की विजेता एलएनआईपीई को हरा चेन्नई पुलिस चैंपियन

ग्वालियर. लगातार तीन बार की चैंपियन एलएनआईपीई ग्वालियर का चौथी खिताबी जीतने का सपना पूरा नहीं हो सका। अरुण के एक गोल की बदौलत चेन्नई पुलिस टीम ने 11वीं अखिल भारतीय सिंधिया स्वर्ण कप फुटबॉल प्रतियोगिता की ट्रॉफी पर कब्जा किया। विजेता टीम चेन्नई पुलिस को एक लाख नगद एवं उपविजेता एलएनआईपीई ग्वालियर को पचास हजार नगद के पुरुस्कार, ट्रॉफी और व्यक्तिगत पुरस्कार दिए।
नगर निगम की मेजबानी में एलएनआईपीई के फुटबॉल मैदान पर खेली जा रही प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला विगत 3 वर्षों की विजेता टीम एलएनआईपीई और चेन्नई पुलिस की टीमों के बीच खेला गया। उम्मीद थी लगातार तीन बार चैंपियन रह चुकी एलएनआईपीई इस बार विजेता रहेगी, क्योंकि वह अपने घरू मैदान पर खेल रही थी। मैच के शुरुआत से ही दोनों टीमों ने शानदार खेल का प्रदर्शन कर उपस्थित अतिथियों एवं दर्शकों का मन जीत लिया। मैच के 62वें मिनट में डी के बाहर फाउल के रूप में चेन्नई पुलिस को एक बेहतरीन मौका मिला। अरुण ने डी के बाहर से सीधे तेज-तर्रार किक मारी जो गोलकीपर के हाथों को छूती हुई सीधे गोल में जा समाई। अरुण का यह गोल ही निर्णायक गोल साबित हुआ। हालांकि एलएनआईपीई टीम पूरे समय चेन्नई पर हावी रही, लेकिन मजबूत रक्षा के आगे ग्वालियर के खिलाडिय़ों की एक नहीं चली।
प्रतियोगिता का समापन व पुरस्कार वितरण पूर्व आईएएस प्रशांत मेहता के मुख्य आतिथ्य में हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक मुन्नालाल गोयल ने की। विशेष रूप से आयुक्त ग्वालियर संभाग एवं प्रशासक नगर निगम एमबी ओझा, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन उपस्थित थे। अतिथियों का स्वागत निगमायुक्त संदीप माकिन, नोडल खेल अधिकारी बी के त्यागी ने पुष्प गुच्छ भेंट कर किया।
प्रशांत मेहता ने कहा, सिंधिया परिवार का सभी खेलों में विशेष सहयोग रहता है। आज राजमाता श्रीमंत विजयाराजे सिंधिया की स्मृति में यह टूर्नामेंट हो रहा है, यह प्रतियोगिता निरंतर ख्याति प्राप्त करे तथा देश विदेश के खिलाडी इस प्रतियोगिता में शिरकत करें। विधायक मुन्नालाल गोयल ने कहा, खेलों को प्रोत्सहित करने के लिए मध्यप्रदेश की सरकार प्रतिबद्ध है तथा शहर में खिलाडियों को अच्छा प्लेटफार्म मले और सभी सुविधाएं उपलब्ध हों इसके लिए मध्य प्रदेश सरकार हर प्रकार से सहयोग करेगी। आयुक्त ग्वालियर संभाग एवं प्रशासक नगर निगम एमबी ओझा ने कहा, नगर निगम ग्वालियर द्वारा हमेशा ही हर प्रकार के खेलों को बढ़ावा दिया है, निगम द्वारा निरंतर खेलों के आयोजन एवं खिलाडिय़ों के प्रशिक्षण के लिए आवश्यक प्रयास किए जाते रहेंगे।
खेल अधिकारी त्यागी ने मध्यप्रदेश फुटबॉल के ऑफिसियल रैफरी एवं स्थानीय निर्णायकों को व्यक्तिगत पुरस्कार दिए। आभार प्रदर्शन अयोध्या शरण शर्मा वरिष्ठ प्रशिक्षक ने व्यक्त किया।

Patrika
राहुल गंगवार Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned