भोजपुरी फिल्मों में निवेश की स्क्रिप्ट पर मास्टरमाइंड ठग चुका 190 करोड़ रुपए

कुछ माह में दोगुनी रकम लौटाने का देता है झांसा

ग्वालियर. भोजपुरी, पंजाबी फिल्मों में पैसा निवेश पर दोगुना से ज्यादा का मुनाफा देने का झांसा देकर कानपुर का ठग मनु प्रशांत विज यूपी, दिल्ली, पंजाब सहित कई प्रदेशों में 13 हजार से ज्यादा लोगों को 190 करोड़ से ज्यादा चूना लगा चुका है। ठगी के धंधे में मोहाली, पंजाब़ पुलिस ने प्रशांत को पत्नी पूजा चौधरी सहित पकड़ा था, लेकिन उसे ज्यादा वक्त हिरासत में नहीं रख पाई। ठग जमानत पर निकल गया। अब थाटीपुर पुलिस उसे पकडऩे के जाल फेंक रही है।
ठग प्रशांत के शिंकजे में फंसे जीवाजी नगर निवासी प्रमोद गुप्ता ने पुलिस को बताया मनु प्रशांत विज का गिरोह चिटफंड की तर्ज पर काम करता है। लोगों को फिल्म में निवेश पर कुछ महीनों में दोगुनी रकम लौटाने का लालच देकर फंसाता है, जो एक बार उसकी कंपनी में पैसा निवेश करता है प्रशांत, उसका पिता अशोक और ग्रुप लीडर अभय दीक्षित उससे कहते हैं और ग्राहक लाओ, इसके एवज में मोटा कमीशन देंगे। ठगी की रकम से प्रशांत विज ने 12 खंभा रोड दिल्ली और नोएडा फिल्म सिटी में जमीनें भी खरीदी हैं।
ग्राहक फंसाने महंगे होटल में सेमिनार
पीडि़त प्रमोद ने बताया कि ठग प्रशांत विज और उसकी गैंग लोगों को जाल में फंसाने के लिए महंगे होटल्स में सेमिनार करते हैं। गैंग का ग्रुप लीडर अभय दीक्षित फिल्मी कलाकारों को फीस देकर इन सेमिनार में बुलाता है। जिससे कार्यक्रम में आने वाले लोगों को यह बता सकें कि फिल्मी कलाकारों से उनके गहरे संबंध है। फिर झांसे में आने वालों से अपने प्रोडेक्शन हाउस ब्लू फोक्स मोशन फिल्म्स में निवेश करने के लिए कहते हैं। प्रमोद के मुताबिक ठग प्रशांत शहर में भी इसी तरह सेमिनार आयोजित करने के लिए उन पर दवाब डाल रहा था। लेकिन वह दो साल पहले मनु प्रशांत के झांसे में आकर 9.5 लाख रुपया निवेश कर चुके थे तो जिद पर अड़ गए कि पहले उनका पैसा लौटाओ तब सेमिनार आयोजित होगा।

राजेंद्र ठाकुर
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned