script44 percent of the families of the division deprived of the benefits of | आयुष्मान योजना के लाभ से वंचित संभाग के 44 फीसदी परिवार | Patrika News

आयुष्मान योजना के लाभ से वंचित संभाग के 44 फीसदी परिवार

चंबल संभाग के अन्तर्गत आने वाले 5 जिलों में 44 फीसदी लोगों के तो कार्ड नही बन सके। कार्ड के अभाव में इलाज का महंगा खर्च वहन नहीं कर पाने से कई गरीब तबके के मरीज तिल-तिल दम तोड़ रहे हैं।

ग्वालियर

Published: September 19, 2022 06:18:43 pm

ग्वालियर. गरीब तबके के अलावा मध्यम वर्गीय परिवारों को बीमारी में आर्थिक मदद के लिए संचालित की जा रही केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना का चार साल बाद भी सभी लोगों को लाभ नहीं मिल पा रहा है। चंबल संभाग के अन्तर्गत आने वाले 5 जिलों में 44 फीसदी लोगों के तो कार्ड नही बन सके। कार्ड के अभाव में इलाज का महंगा खर्च वहन नहीं कर पाने से कई गरीब तबके के मरीज तिल-तिल दम तोड़ रहे हैं।आयुष्मान कार्ड के अभाव में बच्चे व बजुर्गो को अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। संभाग में आयुष्मान कार्ड बनाए जाने में सबसे ज्यादा खराब स्थिति श्योपुर जिले की है। यहां 3 लाख 85 हजार 703 आयुष्मान कार्ड बनाए जाने के लक्ष्य के मुकाबले महज 2 लाख 3 हजार 484 कार्ड ही बन सके हैं। श्योपुरका एक भी निजी अस्पताल आयुष्मान योजना से नहीं जुड़ सका। आयुष्मान कार्ड बनाने की धीमी गति के कारण राज्य में श्योपुर की रैंकिंग 48 है। दतिया जिले के केवल एक अस्पताल में आयुष्मान कार्डधारियों के इलाज की सुविधा मिल रही। कार्ड होने के बाद भी मरीजों को इलाज के लिए बड़े शहरों का रुख करना पड़ रहा है।
इन जिलों कार्ड बनाने की गति धीमी
भले ही आयुष्मान कार्ड बनाए जाने की रैंकिंग में दतिया प्रदेश में 20वें, भिण्ड 25वें, शिवपुरी 30वें और मुरैना 32वें पायदान पर है बावजूद लक्ष्य के मुकाबले 60 फीसद कार्ड भी नहीं बना पाए हैं। दतिया जिले में 4 लाख 19 हजार 23 कार्ड बनाने के लक्ष्य के मुकाबले 2 लाख 58 हजार 248 कार्ड बन पाए। भिण्ड में 6 लाख 80 हजार 138 के बराबर चार लाख 739 कार्ड ही बने हैं। इसी प्रकार शिवपुरी जिले में 9 लाख 71 हजार 793 के मुकाबले 5 लाख 51 हजार 822 कार्ड बन पाए हैं। मुरैना में 10 लाख 18 हजार 478 के मुकाबले पांच लाख 75 हजार 861 आयुष्मान कार्ड बन पाए हैं।
आयुष्मान योजना
आयुष्मान योजना के लाभ से वंचित संभाग के 44 फीसदी परिवार,आयुष्मान योजना के लाभ से वंचित संभाग के 44 फीसदी परिवार

बच्चों को हो रही परेशानी
अधिकतर जिलों में बच्चों के आयुष्मान कार्ड बनवाने में परेशानी आ रही है। बच्चों के लिए कोई अलग व्यवस्था नहीं है। कई जिलों में फिंगर प्रिंट नहीं आने और स्केनर नहीं होने की भी समस्या है। दतिया में करीब एक लाख बच्चे आयुष्मान कार्ड से वंचित है।
जिला प्रतिशत लक्ष्य कितने बने कार्ड
दतिया 61.63 419023 258248
भिण्ड 48.92 680138 400739
शिवपुरी 56.78 971793 551822
मुरैना 56.54 1018478 575861
श्योपुर 5276 385703 203484

कार्ड बनाने वाले ही नहीं ले रहे रूचि
ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सहायक को आयुष्मान कार्ड बनवाने की जिम्मेदारी दी गई है,लेकिन वो इसमें कोई दिलचस्पी नहीं ले रहे, इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों में कार्ड बनने की रफ्तार धीमी है। श्योपुर रोजगार सहायकों को आयुष्मान कार्ड बनाने की जिम्मेदारी दिए जाने के कारण कार्ड बनने में देरी हो रही है। मुरैना में करीब 350 बीएलई और 478 ग्राम रोजगार सहायकों को इस काम में लगाया है लेकिन वे इसमें रूचि नहीं ले रहें है। जीआरएस स्तर पर प्रगति बेहद धीमी है। शिवपुरी में स्केनर नहीं होने की समस्या है। दतिया में प्रशासन ने जिले में 240 कर्मचारियों की आईडी बनी है लेकिन इनमें से 50 फीसदी ही सक्रिय हैं।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

PFI पर ऐक्शन से पाकिस्तान में खलबली, संयुक्त राष्ट्र के सामने लगाई गुहारअशोक गहलोत का ऐलान, नहीं लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, बोले- दो दिन पहले हुई घटना से बहुत आहतटी20 वर्ल्ड कप से पहले भारत को बड़ा झटका, चोट के चलते जसप्रीत बुमराह टूर्नामेंट से बाहर हुएमहिलाओं के हक में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- विवाहित की तरह अविवाहित को भी गर्भपात का अधिकारसोशल मीडिया पर भी लगाम, प्रतिबंध के बाद अब PFI का ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट भी हुआ बंदअंकिता भंडारी मर्डर केस में आरएसएस नेता पर दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है पूरा मामलाBihar News: IAS हरजोत की बढ़ी मुश्किलें, अपने 'कंडोम' वाले बयान पर फंसी ऑफिसर, NCW ने सात दिन में मांगा जवाबजम्मू-कश्मीर: उधमपुर धमाके की जांच के लिए फॉरेंसिक एक्सपर्ट के NIA की टीम रवाना, आतंकी साजिश की आशंका
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.