script5 big cases in six months, the informer system is weak, the forest is | छह महीने में 5 बड़े मामले, मुखबिर तंत्र कमजोर, शिकारियों के हवाले है जंगल | Patrika News

छह महीने में 5 बड़े मामले, मुखबिर तंत्र कमजोर, शिकारियों के हवाले है जंगल

छोंडा और जौरासी रेंज में सबसे ज्यादा मामले
जंगली खरगोश, नीलगाय, सुअर, हिरन जैसे जानवर निशाने पर
शिकारियों द्वारा घायल होने और समय पर इलाज नहीं मिलने से भी हो जाती है जानवरों की मौत

ग्वालियर

Published: June 09, 2022 06:32:47 pm

ग्वालियर. कुछ दिन पहले शिवपुरी-ग्वालियर हाइवे के पास घाटीगांव के जंगल में कन्हेर झील के पास चीतल को शिकारियों ने घायल कर दिया था। समय पर इलाज न मिलने से चीतल मर गया। इससे पहले पनिहार, आंतरी, कुशराजपुर, बरई सहित अन्य क्षेत्रों में शिकार की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। बीते छह महीने में ही 5 बड़े मामले हुए लेकिन वन विभाग के अधिकारी शिकारियों के निशाने पर आ रहे वन्य प्राणियों को बचाने के लिए कोई ठोस रणनीति नहीं बना सके हैं।
छह महीने में 5 बड़े मामले, मुखबिर तंत्र कमजोर, शिकारियों के हवाले है जंगल
छह महीने में 5 बड़े मामले, मुखबिर तंत्र कमजोर, शिकारियों के हवाले है जंगल
शिकारियों की गिरफ्त में पहुंचे जंगल के गांवों में विभाग का मुखबिर तंत्र भी बेहद कमजोर है, जिसकी वजह से सामान्य शिकार की घटनाएं सामने ही नहीं आतीं। जिन घटनाओं में मामला बढ़ जाता है, सिर्फ वही रिपोर्ट हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि जिले के पनिहार, पुरासानी, नयागांव, आंतरी, पाटई, सहसारी, जखौदा, बरई, हथनौरा, देवगढ़ सहित अन्य क्षेत्रों शिकारियों के निशाने पर नीलगाय, जंगली खरगोश, लकड़बग्घे, जंगली सुअर, हिरन, मोर लगातार बने हुए हैं। लगातार घटनाएं सामने आई हैं, लेकिन वन विभाग के अधिकारी शिकारियों को गिरफ्त में नहीं ले सके।
यह होता है शिकार का तरीका
जंगली जानवरों के शिकार की फिराक में घात लगाए शिकारी बंदूक का उपयोग कम से कम करते हैं। वन्य प्राणियों का शिकार करने के लिए अक्सर दिन में खटका लगाकर छोड़ दिया जाता है। जमीन पर लगाया गया खटका पत्तों या मिट्टी से ढंका जाता है। दूसरा तरीका पेड़ों के बीच तारों का फंदा है। महीन तारों से बना यह फंदा दो पेड़ों के बीच बांधा जाता है। सुबह-शाम या फिर रात के समय जब वन्य प्राणी पानी या भोजन की तलाश में निकलते हैं तो जल स्रोतों के आसपास लगाए गए इन फंदों में फंस जाते हैं।
कुशराजपुर
18 दिसंबर 2021 को कुशराजपुर (सातऊं) गांव के जंगल में शिकारियों ने खटका लगाकर तेंदुए को घायल कर दिया था। तेंदुए को करीब छह घंटे की मशक्कत के बाद ट्रेंक्यूलाइज करके पकड़ा जा सका था। 12 दिन गांधी प्राणी उद्यान में इलाज के बाद भोपाल के वन विहार भेजा गया। तेंदुए को घायल करने वाले शिकारी अभी तक पकड़े जा सके।
आंतरी
5 मई को आंतरी के जंगल में शिकारियों ने जंगली खरगोश का शिकार किया था। इसका सुराग मिलने के बाद शिकारी वन विभाग के कर्मचारियों की निगाह मेंं थे, शिकार और शिकारी दोनों हाथ में आ गए लेकिन कार्रवाई नहीं की। मृत खरगोश को भी जला दिया गया। यह मामला जब तूल पकड़ा तो अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक ने जांच के निर्देश दिए। हालांकि, इसकी जांच भी निर्देश तक ही सिमट कर रह गई है।
पनिहार
छोंड़ा वन चौकी क्षेत्र के अंतर्गत पनिहार के मैदानी क्षेत्र में वन अमले ने नीलगाय का शिकार करके मांस पकाने की सूचना के बाद वन अमले ने कार्रवाई की और 15 किलो पकते हुए पकड़ा था। इसके साथ ही मौके से नीलगाय के पैर, शिकार में उपयोग की गई कुल्हाड़ी सहित अन्य औजार जब्त किए थे। सिर्फ एक आरोपी को वन टीम पकड़ पाई।
24 मई 2020 को पनिहार के जंगल में कन्हेर झील के पास चीतल को शिकारियों ने गोली मार दी। वन विभाग की टीम को सूचना मिली तो भी समय से नहीं पहुंचे। आखिर चीतल ने दम तोड़ दिया। इसके बाद पोस्टमार्टम आदि की औपचारिकता पूरी करके विभाग ने पुराना ढर्रा अपना लिया। शिकारी अभी तक नहीं पकड़े गए हैं।
वन क्षेत्र में पिछले कुछ समय में लगातार गश्त बढ़ाई गई है, कुछ मामलों में वन टीम को सफलता मिली है और शिकारी भी पकड़े गए हैं। सख्ती की वजह से वर्तमान में संरक्षित वन्य प्राणियों के शिकार पर अंकुश लगा है। जिन मामलों में शिकारी हाथ से निकल गए, उनको लेकर टीमें अपने स्तर पर काम कर रही हैं, जल्द ही परिणाम सामने आएंगे।
बृजेन्द्र श्रीवास्तव, डीएफओ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे ने शिंदे खेमे को फटकारा, बोले- मेरे गर्दन और सिर में दर्द था, मैं अपनी आंखें नहीं खोल पा रहा था...Maharashtra Politics: बीजेपी नेता ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- उद्धव सरकार 2 दिन से अंधाधुंध ले रही फैसले, डिप्टी CM ने दिया जवाबMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लान2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालG7 Summit 2022: पीएम मोदी कल जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जर्मनी जाएंगे, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चाMumbai News Live Updates: शिवसैनिक कर सकते है हंगामा! मुंबई समेत राज्यभर के सभी पुलिस स्टेशन हाई अलर्ट परPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.