मेला में पिछले साल से 5 हजार वाहन ज्यादा बिके, 43 करोड़ रुपए से अधिक मिला राजस्व

पिछले साल मेला में 16 हजार 635 वाहनों की बिक्री हुई थी। जिसका परिवहन विभाग को राजस्व 20 करोड़ 21 लाख 87 हजार 757 मिला था। वहीं इस बार मेला में बिकने वाले वाहनों की संख्या 21 हजार 771 रही

ग्वालियर। ग्वालियर व्यापार मेला में इस साल वाहनों की खरीद पर रोड टैक्स में 50 प्रतिशत छूट शुरू से ही मिलने से वाहनों की बंपर बिक्री हुई। परिवहन विभाग में 21 हजार 771 वाहन पंजीयन के लिए पहुंचे हैं। इस हिसाब से पिछले साल से पांच हजार अधिक वाहन बिके हैं। इससे परिवहन विभाग को 43 करोड़ रुपए से अधिक राजस्व मिला है।


प्रदेश सरकार ने पिछले साल से ग्वालियर व्यापार मेला में रोड टैक्स में छूट देना शुरू किया है। इस साल इसकी घोषणा मेला आरंभ होने से पहले ही कर दी गई थी, इससे मेला के ऑटोमोबाइल सेक्टर में रंगत आ गई और पूरे अंचल से लोग मेले में वाहन खरीदने के लिए आए। पिछले साल मेला में 16 हजार 635 वाहनों की बिक्री हुई थी। जिसका परिवहन विभाग को राजस्व 20 करोड़ 21 लाख 87 हजार 757 मिला था। वहीं इस बार मेला में बिकने वाले वाहनों की संख्या 21 हजार 771 रही, जिसका राजस्व 43 करोड़ 50 लाख 51 हजार 738 रहा है, जो पिछले साल से 23 करोड़ रुपए अधिक है।

7 हजार से अधिक बिके चार पहिया वाहन
परिवहन विभाग के आंकड़ों के मुताबिक इस बार मेला में 7 हजार 448 चार पहिया वाहन बिके। इनकी कीमत साढ़े चार लाख से लेकर 18 लाख तक रही। स्कूटर 4 हजार 303 एवं बाइक 8 हजार 284 बिकीं। सबसे ज्यादा बाइक की मांग रही। बाइक की कीमत 55 हजार से लेकर 2 लाख से अधिक तक रही। तीन पहिया टेंपो 518, तीन पहिया गुड्स वाहन 214, ऑटो रिक्शा 183, ऑटो रिक्शा गुड्स 48 सहित अन्य वाहनों की खरीदारी की गई।

एक दिन में पौने चार सौ से अधिक वाहन बिके
ग्वालियर व्यापार मेला में वाहन खरीदने वालों की शुरू से मेला के समापन तक भीड़ रही। ऑटो सेक्टर में कार और बाइक के शोरूम फुल रहे। एक दिन में करीब पौने चार सौ वाहन बिकना बताया गया है।

वालियर व्यापार मेला में रोड टैक्स में छूट मिलने से पिछले साल की तुलना में इस साल अधिक वाहन बिके हैं। इससे 43 करोड़ से अधिक राजस्व की प्राप्ति शासन को हुई है।
डॉ.एमपीसिंह, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी

Rahul rai Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned