script6 arrested including auto driver, mastermind of dacoity | दिनदहाड़े डाके का मास्टरमाइंड ऑटो चालक सहित 6 गिरफ्तार | Patrika News

दिनदहाड़े डाके का मास्टरमाइंड ऑटो चालक सहित 6 गिरफ्तार

गाडी धोने वाले की मुखबिरी पर ननिहाल से भाड़े पर बुलाए थे लुटेरे

137 ग्राम सोना, मोबाइल मिला
पुलिस बोली डाका ट्रेस, प्रोफेसर का कहना आधे गहने भी नहीं मिले

ग्वालियर

Published: June 09, 2022 02:21:24 am

ग्वालियर। पंचशील नगर में एमआईटीएस के प्रोफेसर शिशिर दीक्षित के घर डाके का खुलास तो हो गया है। लेकिन लूटे गए सोने की तादात को लेकर पुलिस और प्रोफेसर उलझ गए हैं। दीक्षित दंपति की दलील है लुटेरे एक किलो वजन के जेवर ले गए थे।
137 grams of gold, mobile found
दिनदहाड़े डाके का मास्टरमाइंड ऑटो चालक सहित 6 गिरफ्तार
उनमें कुछ हीरे के गहने भी थे। पुलिस सिर्फ 137 ग्राम वजनी सोना ही थमा रही है। जेवर एक किलो वजनी थे, यह नहीं मान रही है। जबकि वारदात के बाद ही गहनों का वजन बताया था। डाका डालने में 9 लुटेरे शामिल थे। इनमें 6 पुलिस के हाथ आ गए हैं। लुटेरों ने खुलासा किया गहने और पैसा लूटकर 9 हिस्से किए थे। जो लूटा था वह पुलिस को थमा दिया।
पंचशील नगर में दो रोज पहले प्रोफेसर शिशिर दीक्षित के घर में दिनदहाड़े घुसकर उनकी बुजुर्ग मां कनकलता 80, पत्नी श्वेता और बेटी शिवांगी उर्फ सोनू को गनप्वाइंट पर बंधक बनाकर डाका डालने का राजफाश हो गया है।
डाके की साजिश प्रोफेसर की गाड़ी धोने वाले चेतन जाटव और अजय कुशवाह ने रची थी। दरअसल चेतन जाटव पंचशील नगर में रहता है। करीब 10 साल से चेतन और उसका परिवार दीक्षित गाड़ी और सफाई का काम करता रहा है।
करीब 6 महीने पहले चेतन को घर में अंदर सफाई के लिए बुलाया था। तब उससे अलमारी उठवाई थी। उस दौरान चेतन ने उसमें पैसा रखा देख लिया था। इसलिए उसे पता था प्रोफेसर के घर काफी पैसा रहता है।
रानीपुरा, हजीरा का अजय कुशवाह अपराधी और चेतन का दोस्त है। अजय कई बार चेतन से मोटा हाथ मारने के लिए टारगेट पूछता रहता था। 5 दिन पहले चेतन की अजय से मुलाकात हुई तो उसे प्रोफेसर के घर मोटा पैसा होने की खबर दे दी।
झांसी का अपराधी मास्टरमाइंड ऑटो चालक
अजय कुशवाह मूलत: झांसी का रहने वाला है। वहां कई अपराध कर चुका है। पुलिस से बचने के लिए 10 साल पहले भाग कर रानीपुरा हजीरा आकर बस गया है। यहां उसका मौसेरा भाई विशाल कुशवाह हजीरा का अपराधी रहा है।
विशाल के दोनों पैर कटे हुए हैं। नशा कारेाबार में पुलिस ने विशाल को अरेस्ट किया था। इन दिनों विशाल जेल में है। उसकी मां ने गुजर बसर के लिए ऑटो खरीद रखा है। उसे अजय कुशवाह चलाता है। विशाल की वजह से उसके लोकल में भी कई अपराधियों से ताल्लुक हैं।
झांसी में घर और ननिहाल होने की वजह से वहां से अपराधी भी उसके सतत संपर्क में रहते हैं। चेतन ने उसे प्रोफेसर के घर काफी पैसा होने का इनपुट दिया तो अजय ने उनके यहां डकैती की प्लानिंग की। उसके लिए झांसी से 5 बदमाशों को बुलाया।
वारदात से पहले ऑटो से पंचशील नगर जाकर प्रोफेसर के घर की बाहर से रैक्ी की थी। चेतन ने बता दिया था प्रोफेसर के घर में सिर्फ उनकी बुजुर्ग मां, पत्नी और बेटी रहते हैं। प्रोफेसर दीक्षित सुबह कॉलेज जाते हैं। दिन में घर में सिर्फ महिलाएं रहती है। इस इनपुट पर अजय ने डाके का खाका खींचा।
ऐसे दिया वारदात को अंजाम
वारदात के लिए अजय ने झांसी से लुटेरों को बाइक सहित बुलाया। अजय और चेतन मेला ग्राउंड पर ऑटो में बैठे रहे। कृष्णा उर्फ कान्हा कोली निवासी हजीरा के साथ झांसी से बुलाए गुटटू यादव, प्रकाश सहित 5 बदमाशों को प्रोफेसर दीक्षित के घर वारदात के लिए भेजा। लुटैरों ने प्रोफेसर के घर में घुसकर डाका डाला।
ऐसे मिला क्लू
पुलिस ने बताया लुटेरों को ट्रेस करने के लिए 532 सीसीटीवी कैमरे खंगाले। इनमें डाका डालने वाले बदमाश बाइक से जाते दिखे। उनके पीछे अजय का ऑटो भी चलता दिखा। कुछ कैमरे में उसकी नंबर प्लेट पर सिर्फ 3 अंक दिखे आगे जाकर पूरा नंबर 8241 नजर मेंं आया। पहचान छिपाने के लिए गिरोह मुंह पर साफी लपेटे था। लेकिन हजीरा पहुुंचने से पहले लुटेरे कान्हा उर्फ कृष्णा कोली ने साफी खोल दी। उसका चेहरा साफ दिख गया तो उसकी पहचान हो गई। उसे राउंडअप कर पूछताछ की तो कृष्णा ने सारा राज खोल दिया।
ठिकाने पर हिस्साबांट, चुप रहने का हिस्सा
मास्टरमाइंड अजय ने खुलासा किया लूट में 8 लोग शामिल थे। लेकिन वारदात की जानकारी चेतन के पड़ोसी दोस्त प्रवेश नरवरिया को भी थी। सबसे पहले चेतन ने उसे ही बताया था प्रोफेसर के घर काफी पैसा है। लेकिन वह डाका डालने की वारदात में शामिल होने के लिए राजी नही था। उसने वादा किया था वारदात के बारे में किसी को नहीं बताएगा। लेकिन उसके बदले लूटी रकम में हिस्सा मांगा था। एक हिस्सा प्रवेश का भी था।
पैसा लूटने घुसे, गहनों मिलेंगे पता नहीं था
डाके के मास्टरमाइंड अजय कुशवाह और चेतन को पुलिस ने बुधवार रात को उठा लिया था। प्रोफेसर के परिवार से उसका सामाना कराया तो चेतन ने खुलासा किया उसे सिर्फ यह पता था उनके घर काफी पैसा रहता है। इतने गहने अलमारी में भरे होंगे इसकी जानकारी नहीं थी। क्योंकि उसने सिर्फ प्रोफेसर के कमरे में रखी अलमारी उठवाई थी। उसमें ही पैसा रखा देखा था। उनकी मां कनकलता के कमरे की अलमारी में क्या है उसे पता नहीं था। डाके के वक्त जब दोनों अलमारी के ताले तोडकऱ लूटपाट की तब सोना सामने आया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

SpiceJet की एक और फ्लाइट में खराबी, मुंबई में प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटनायूपी में प्रशासनिक फेरबदल, 4 IAS और 3 PCS किए गए इधर से उधरउत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड परीक्षा-2022: जाने परीक्षा केंद्र के लिए बनाए गए नियमGujarat: एमई, एमफार्म में प्रवेश के लिए आज से शुरू होगा रजिस्ट्रेशनएंकर रोहित रंजन को रायपुर पुलिस नहीं कर पाई गिरफ्तार, अपने ही दो कर्मचारी के खिलाफ जी न्यूज़ ने दर्ज कराई FIRMausam Vibhag alert : मौसम विभाग का यूपी के कई जिलों में 9-12 जुलाई तक भारी बारिश का अलर्टबाप बोला, मेरे बेटे ने दोस्त के साथ मिलकर कर दी अपनी मां की हत्याGanpati Special Train: सेंट्रल रेलवे ने किया बड़ा एलान, मुंबई से चलेगी 74 गणपति महोत्सव स्पेशल ट्रेन, देखें पूरा शेड्यूल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.