नुक्कड़ नाटक से दिया एक्सीडेंट में मदद करने का संदेश

इंडियन इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में कार्यक्रम

By: Mahesh Gupta

Updated: 27 Nov 2019, 10:42 PM IST

हाइवे पर लोडर और बस का एक्सीडेंट होता है। लोडर के ड्राइवर, क्लीनर्स और ऑटो की संवारियां जख्मी होती हैं। लोग घटना स्थल पर रुकते हैं और वीडियो बनाने लग जाते हैं। इतने में एक महिला उन्हीं के बीच से आगे बढ़ती है और खुद मदद करने के साथ और लोगों को बुलाती है। इस पर लोग इक_ा होते हैं और घायलों को अस्पताल पहुंचाते हैं। इस तरह से सभी की जान बच जाती है। कुछ ऐसा ही दृश्य इंडियन इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल के बच्चों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दिखाया और यह संदेश दिया कि किसी भी घटना का वीडियो बनाने के बजाए मदद के लिए आगे आएं।

पक्ष और विपक्ष टीमों ने रखी बात
यह नुक्कड़ नाटक स्कूल की प्रिंसिपल ममता गोयल के नेतृत्व में आयोजित किया गया, जिसके पहले डिबेट का आयोजन भी हुआ। इसमें दो टीमें बनाई गईं, जिसमें एक टीम वीडियो बनाने के पक्ष में थी और दूसरी विपक्ष में। किसी ने मदद करना जरूरी बताया तो किसी ने वीडियो बनाना। मुस्कान कुशवाह ने कहा कि समय पर यदि हम घायलों को हॉस्पिटल पहुंचा दें, तो जान बचाई जा सकती है। अनुज पाराशर ने कहा कि वीडियो बनाना भी जरूरी है, क्योंकि इससे पुलिस को मदद मिलती है। अमन यादव ने कहा कि किसी घायल की मदद करने पर पुलिस उल्टे-सीधे सवाल करती है। श्रीकांत पाराशर ने कहा कि यदि हम दूसरों को अपने परिवार की तरह समझें, तो मदद के लिए हमारे हाथ बढ़ेंगे।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned