खुले ट्रांसफार्मर से हो रहे हादसे

खुले ट्रांसफार्मरों के कारण आए दिन हादसे हो रहे हैं, फिर भी बिजली कंपनी द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। साथ ही आए दिन लाइनों में फॉल्ट हो रहे हैं, जिससे बिजली कंपनी के मेंटेनेंस केवल फाइलों में ही सिमट कर रह गए हैं।

Rajesh Shrivastava

August, 0302:05 AM

ग्वालियर. विद्युत वितरण कंपनी द्वारा भले ही बारिश के पूर्व में मेंटेनेंस कराए जाने की बात कही जा रही है, लेकिन जिस तरह से कॉलोनियों में खुले बिजली के ट्रांसफार्मर और केबिल झूल रही हैं। साथ ही आए दिन लाइनों में फॉल्ट हो रहे हैं, जिससे बिजली कंपनी के मेंटेनेंस केवल फाइलों में ही सिमट कर रह गए हैं। इधर मेंटेनेंस के नाम पर बिजली कंपनी द्वारा बिजली कटौती कर लोगों को परेशान भी किया जा रहा था, लेकिन अभी भी हालात सुधरते हुए नहीं दिख रहे हैं। क्योंकि बारिश के दिनों में यह खुले ट्रांसफार्मर हादसों का सबब बने हुए हैं। वहीं कई ट्रांसफार्मरों पर बिजली के तारों का मकडज़ाल लगा होने से लोगों को हर समय हादसों की चिंता लगी रहती है। वर्तमान में आदित्यपुरम क्षेत्र में खुले ट्रांसफार्मरों के कारण आए दिन हादसे हो रहे हैं, फिर भी बिजली कंपनी द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

 आदित्यपुरम क्षेत्र में बिजली कंपनी द्वारा ट्रांसफार्मर तो लगवा दिए गए हैं, लेकिन इनके मेंटेनेंस कराए जाने के संबंध में बिजली कंपनी द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इधर इन ट्रांसफॅार्मरों पर जितने कनेक्शन लगे हुए हैं, उससे करीब 10 गुना ज्यादा अवैध कनेक्शन डले हुए हैं। जिससे ट्रांसफार्मरों पर बिजली के तारों का मकडज़ाल लगता जा रहा है। ऐसे में इन ट्रांसफार्मरों पर लोड अधिक होने के कारण कभी भी फॉल्ट हो जाता है, जिसके चलते बिजली गुल हो जाती है। इस संबंध में शिकायत करने के कई घंटों बाद बिजली कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचते हैं तो लोग अपनी जान जोखिम में डालकर खुद ही ट्रांसफॉर्मरों पर तार जोड़ देते हैं। जिससे कई बार लोग हादसों का शिकार भी हो चुके हैं।

इसके बावजूद भी न तो लोग जागरुकता दिखा रहे हैं और न ही बिजली कंपनी द्वारा अभी तक इस संबंध में कोई ध्यान दिया जा रहा है। इधर, ट्रांसफार्मरों पर क्षमता से अधिक कनेक्शन लगे होने के कारण खुलेआम बिजली की चोरी हो रही है। जिसका खमियाजा कनेक्शनधारियों को आकलित खपत के बिल चुकाकर भुगतना पड़ रहा है। ऐसे में अगर कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं द्वारा बिजली कंपनी के अधिकारियों से शिकायत की जाती है तो वह शीघ्र ही समस्या का निराकरण कराए जाने का आश्वासन देकर औपचारिकता पूरी कर लेते हैं, लेकिन कई दिनों तक समस्या का निराकरण नहीं होने के कारण हालात और भी बदतर होते जा रहे हैं।

Show More
राजेश श्रीवास्तव
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned