अपराध रोकने के साथ ही पर्यावरण प्रेमी बनने का संदेश दे रहे एडीजी

एडीजी राजा बाबू सिंह के प्रिय विषय पर्यावरण, गीता और गांधी हैं, जिन पर वह निरंतर काम कर रहे

By: Mahesh Gupta

Published: 01 Jul 2020, 01:25 PM IST

युवाओं को बांट चुके 4 हजार से अधिक भागवत गीता

इंसान का जीवन केवल अपने परिवार या अपनी ड्यूटी करने तक ही सीमित नहीं रह जाता, बल्कि उसका दायित्व अपने देश की सेवा करना भी है। हर भूले हुए को सही रास्ता दिखाना, पर्यावरण के लिए काम करना भी देश सेवा है। यही संदेश देने के लिए ग्वालियर जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजा बाबू सिंह काम कर रहे हैं। वह अपराध को कम करने के साथ ही पर्यावरण, गीता और गांधी पर काम कर रहे हैं। वह उन तेज तर्रार ऑफीसर में से एक हैं, जिन्होंने ग्वालियर चंबल संभाग के अपराध को कम करने के साथ ही पर्यावरण संभालने और युवाओं को नैतिकता का पाठ पढ़ाने का भी काम किया है। वह आइएएस, आइपीएस के आइडल होने के साथ ही युवाओं के प्रेरणा स्रेात भी हैं।

युवाओं को दे चुके 4 हजार से अधिक भागवत गीता
एडीजी राजा बाबू का मानना है कि व्यक्ति अपराध तभी करता है, जब वह अपने अंदर के इमोशन को बैलेंस नहीं कर पाता। श्रीमदभागवत गीता संयम सिखाती है। यह मनुष्य को सही मार्ग पर ले जाती है। गीता भटके हुए व्यक्ति को सही मार्ग पर लाने के साथ ही आगे बढऩे की प्रेरणा भी देती है। यही कारण रहा कि राजा बाबू ने अभी तक 4 हजार से अधिक गीता युवाओं को बांटीं। साथ ही स्कूल, कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी में पहुंचकर युवा पीढ़ी को गीता के महत्व से परिचित कराया।

रैनी सीजन में 61 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य
राजा बाबू सिंह पर्यावरण को हरा-भरा बनाने और लोगों में पर्यावरण के प्रति प्रेम जगाने के लिए इस बार रैनी सीजन में ग्वालियर चंबल संभाग में 11 हजार और बुंदेलखंड में 50 हजार पौधे लगवाएंगे। इसकी अलख वह लोगों के दिलों में जगा चुके हैं। उन्होंने लास्ट ईयर भी पर्यावरण की दिशा में काफी काम किया था, जिसके बाद से कई संस्थाओं एवं संगठनों ने उनके पद चिन्हों को अपनाया।

इसलिए बनें आइडल
लास्ट ईयर राजा बाबू एक लाख सीड बॉल्स बनवाकर खाली जगहों पर फिकवाईं, जो आज पेड़ बन चुके हैं। इसके साथ ही बेहट में 108 पीपल के पेड़ एवं तिघरा में नक्षत्र वाटिका बनवाई।

इस साल के टारगेट
प्रमोट रिजनरेटिव फार्मिंग एंड नो-टिल फार्मिंग, सॉयल हेल्थ एंड सॉयल बॉयोलॉजी, रैन वाटर हार्वेस्टिंग, रिजनरेशन ऑफ लोकल रिवर ऑफ वाटर मैनेजमेंट, रिवाविंग एंड प्रिजर्विंग लोकल बायो-डायवर्सिटी, हेनरेसिंग द पॉवर ऑफ सोलर एनर्जी, बैकयार्ड फूड फॉरेस्ट, प्रमोशन एंड प्रिजर्वेशन ऑफ काऊ ब्रीड्स, योगा, मेडिटेशन एंड स्प्रिचिअल्टी।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned