बिना पीपीटी दिए मैरिट के आधार पर पॉलिटेक्निक में होगा एडमिशन

तकनीकी शिक्षा विभाग जुलाई के प्रथम सप्ताह से शुरू करा सकता है ऑनलाइन काउंसिलिंग, कोरोना संक्रमण के चलते पिछले वर्ष भी नहीं हुई थी पीपीटी की परीक्षा

By: Hitendra Sharma

Updated: 28 May 2021, 11:56 AM IST

ग्वालियर. कोरोना संक्रमण का असर अब पॉलिटेक्निक में एडमिशन की प्रवेश प्रक्रिया पर भी देखने को मिल रहा है। बीते वर्ष की तरह ही इस साल भी छात्रों को बिना प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (PPT) परीक्षा दिए ही पॉलिटेक्निक में एडमिशन कक्षा 10वीं की मैरिट के आधार पर ही मिल सकेगा। तकनीकी शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना संक्रमण के चलते सत्र 2021-22 में प्रदेश के पॉलिटेक्निक संस्थानों में प्रवेश प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी) के बिना ही कक्षा 10वीं के मैरिट के आधार पर दिया जाएगा।

Must see: स्नातक अंतिम वर्ष के नतीजे 31 जुलाई तक, विलंब शुल्क माफ

इसकी काउंसिलिंग जुलाई के प्रथम सप्ताह में शुरू की जा सकती है। प्रदेश में 137 पॉलिटेक्निक संस्थानों में विभिन्न ब्रांचों में लगभग 28 हजार सीटें हैं। इन संस्थानों में कक्षा 10वीं की परीक्षा के अंकों की मैरिट के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। इसमें शहर के दो शासकीय
पॉलिटेक्निक महाविद्यालयों में करीब 850 सीटें सात ब्रांचों में हैं।

Must see: बिना रजिस्ट्रेशन के 18 प्लस वालों को नहीं लगेगी वैक्सीन

कोविड संक्रमण के चलते तकनीकी शिक्षा विभाग ने प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट निरस्त कर दिया है। ऐसे में अब कक्षा 10वीं के छात्रों की मैरिट लिस्ट के आधार पर प्रदेश के शासकीय और निजी पॉलिटेक्निक संस्थानों में प्रवेश दिया जाएगा। हालांकि कोविड के चलते माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड व सीबीएसई ने कक्षा 10वीं की परीक्षा भी रद्द कर दी गई हैं और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। यह रिजल्ट जून माह में घोषित किया जाएगा। रिजल्ट आते ही प्रदेश के पॉलिटेक्निक संस्थानों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

Must see: लेटलतीफी के कारण अटक सकती है छात्रों की स्कॉलरशिप

कोविड 19 संक्रमण को देखते हुए प्रोफेशनल एग्जामिनेशलन बोर्ड (पीईबी) पिछले साल की तरह इस साल भी पीपीटी नहीं कराएगा। क्योंकि तकनीकी शिक्षा विभाग ने देशभर के साथ प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट निरस्त कर दी है। वहीं माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड और सीबीएसई ने भी बीते दिनों कक्षा 10वीं की परीक्षा रद कर दी और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर रिजल्ट तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को जारी किए गए। रिजल्ट बनाने का कार्य अभी चल रहा है। सभी जिलों से रिजल्ट बनकर 3मई तक बोर्ड के पास पहुंच जाएंगे, जिसके बाद जून माह में रिजल्ट घोषित किया जाएगा। रिजल्ट आते ही तकनीकी शिक्षा विभाग पॉलिटेक्निक संस्थानों में प्रवेश देने के लिए ऑनलाइन काउंसिलिंग जुलाई के प्रथम सप्ताह में शुरू करा देगा। इसकी प्लानिंग भी आयुक्त तकनीकी शिक्षा विभाग ने शुरू कर दी है, जिससे विद्यार्थियों का सत्र भी पिछड़ने से बच सकेगा।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned