जून तक शहर में 500 से अधिक शादियों की एडवांस बुकिंग, गाइडलाइन के बाद कई लोग बुकिंग कैंसिल कराने का बना रहे मन

- मैरिज गार्डन कारोबारी से लेकर विवाह व्यवसाय से जुड़े दूसरे कारोबारियों की बढ़ गयी चिंता
- मैरिज गार्डन में शादियां कैंसिल करके होटलों में की जा रही बुकिंग, 22 अप्रैल से शुरू होना है शादियां, 25 अप्रैल को सबसे बड़ा मुहूर्त, उसी दिन रविवार का लॉकडाउन

By: Narendra Kuiya

Published: 05 Apr 2021, 09:39 AM IST

ग्वालियर. शादी-विवाह पर फिर कोरोना संक्रमण काल के संकट के बादल मंडराने लगे हैं। लगभग पांच माह बाद 22 अप्रैल से सहालग का दौर शुरू होने जा रहा है, पर लॉकडाउन एवं जिला प्रशासन की गाइडलाइन की वजह से परेशानी बढ़ गई है। मेहमानों की संख्या कम किए जाने से गार्डन संचालक व टेंट-कैटर्स कारोबारी विरोध में उतर आए हैं। इनका कहना है कि मैरिज गार्डन के क्षेत्रफल के मुताबिक 50 फीसदी लोगों की अनुमति प्रदान की जाए। जून माह तक शहर में 500 से अधिक शादियों की एडवांस बुकिंग हो चुकी है, गाइडलाइन के बाद कई लोग बुकिंग कैंसिल कराने का मन बना रहे हैं। कोरोना संक्रमण के चलते पिछला साल मैरिज गार्डन व इससे जुड़े टेंट, लाइट, कैटर्स के लिए काफी बुरा रहा था, इस बार भी इन सभी की चिंता बढ़ गयी है। वहीं कुछ लोग मैरिज गार्डन में शादी कैंसिल करके होटलों का रुख कर रहे हैं।

ये हैं विवाह के मुहूर्त
अप्रैल - 22, 23 से 27, 30
मई - 1, 2, 7 से 9, 13, 14, 16, 22 से 24, 26 और 30
जून - 5, 6, 13, 18, 20, 23 और 27

संडे के लॉकडाउन की भी चिंता
संडे के लॉकडाउन की चिंता भी शादी वाले परिवारों को हो रही है। अप्रैल में 25 को संडे, मई में 2, 9, 16, 23 और 30 को संडे, जून में 6, 13, 20 और 27 को संडे है।

दो माह पहले ही बुक हो चुके थे मैरिज गार्डन
22 अप्रैल से शादी के मुहूर्त होने के कारण शहर के करीब 350 मैरिज गार्डन दो माह पहले से बुक हो चुके हैं। अब शादी में सीमित लोगों की संख्या तय होने के बाद सभी की परेशानियां बढ़ गयी हैं। छत्रीमंडी निवासी दिलीप अग्रवाल ने बताया कि 2 मई की बेटे की शादी है, इसके लिए मैरिज गार्डन भी बुक किया हुआ है। पर ऐसे हालातों में समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें।

10 हजार परिवार होंगे प्रभावित
हम वैवाहिक स्थल पर क्षेत्रफल क्षमता के 50 फीसदी मेहमानों को शामिल करने की अनुमति मांग रहे हैं। प्रशासन के हिसाब से रखी गई शर्त के हिसाब से तो इस कारोबार से जुड़े लोगों का धंधा चौपट हो जाएगा। इस काम से 10 हजार परिवारों का भरण-पोषण होता है। मैरिज गार्डन वालों ने पिछले साल लिए एडवांस इस बार चुकता किए हैं। बैंकों की इएमआइ, ब्याज आदि काफी सारी परेशानियां पहले से ही हैं।
- आरपी माहेश्वरी, अध्यक्ष, वृहत्तर ग्वालियर मैरिज हाउस ऐसोसिएशन

बेरोजगार हो गए हैं
सरकार दूसरी जगहों पर भी तो भीडभाड़ के साथ कार्यक्रम करने की अनुमति दे रही है, फिर शादी-विवाह में प्रतिबंध क्यों लगाया जा रहा है। इस कारोबार से जुड़े सभी लोग बेरोजगार हो गए हैं। इसमें छूट मिलनी ही चाहिए। शहर में केटरिंग के काम से करीब 600 लोग जुड़े हैं।
- राजेन्द्र गुप्ता, अध्यक्ष, केटर्स हलवाई क्रॉकरी व्यवसायी संघ ग्रेटर ग्वालियर

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned