स्टूडेंट्स की बेहतर परफॉर्मेंस के लिए बनेंगे एडवांस किचन, एडवांस इक्युपमेंट से निखरेगा स्किल

पर्यटन मंत्रालय ने दी स्वीकृति, जल्द शुरू होगा काम

इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (आइएचएम) के स्टूडेंट्स को जल्द ही नई सुविधाएं मिलने जा रही है, जिससे वह कुछ नया और बेहतर सीख पाएंगे। इसके अंतर्गत संस्थान में थर्ड फ्लोर तैयार होगा। इसके लिए पर्यटन मंत्रालय के लिए प्रपोजल भेजा गया था, जो स्वीकृत हो गया है। अब जल्द ही इस पर काम शुरू होगा। 30 करोड़ की लागत से तैयार होने वाले इस फ्लोर में एडवांस किचन, एडवांस क्लासरूम के साथ ही न्यू एक्युपमेंट शामिल होंगे, जिससे हर एक स्टूडेंट्स को अटेंशन मिल सकेगा। उम्मीद है यह कार्य 2020 में शुरू हो जाएगा।

सीट बढऩे के कारण आ रही दिक्कत
भारत सरकार की ओर से इसी वर्ष आइएचएम की सीट्स 670 से बढ़कर 750 कर दी गईं। स्टूडेंट्स की संख्या बढऩे से अब किचन से लेकर क्लासरूम में बैठने तक की प्रॉब्लम को फेस करना पड़ रहा था, जिसमें थर्ड फ्लोर बनने के साथ ही सुविधा मिल सकेगी। संस्थान में होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन फूड प्रोडक्शन कोर्स संचालित हैं, जिसमें फस्र्ट ईयर स्टूडेंट्स के लिए 2 किचन, सेकंड ईयर के लिए 1 किचन और थर्ड ईयर स्टूडेंट्स के लिए 2 किचन एलॉट हैं, लेकिन बच्चों की स्ट्रेंथ के कारण मैनेज करने में दिक्कत आती है।

बढ़ेगी बेकरी और क्लासरूम की संख्या
थर्ड फ्लोर डवलपमेंट में स्मार्ट क्लासेस, सेमिनार हॉल, आडिटोरियम, किचन, कम्प्यूटर लाइब्रेरी, बेकरी, वॉशरूम, स्टॉफ रूम आदि शामिल किए जाएंगे। इसके साथ ही किचन संबंधी एक्युपमेंट भी परचेज किए जाएंगे, जो एडवांस होंगे। इसके लिए फैकल्टी भी अपने ओपेनियन सभी के समक्ष रखेगी। इस डवपलमेंट के बाद नेशनल और इंटरनेशनल सेमिनार किए जाने का भी प्लान है, जिसमें देश-विदेश के स्टूडेंट्स शामिल होंगे।

एंटरप्रेन्योर प्रोग्राम के लिए नहीं मिल रहे स्टूडेंट्स
गवर्नमेंट की ओर से फ्री स्किल सिखाने के लिए एंटरप्रेन्योर प्रोग्राम की शुरुआत की गई है, जिसके लिए संस्थान को स्टूडेंट्स नहीं मिल रहे हैं। इस प्रोग्राम में अभी केवल 30 स्टूडेंट्स हैं। यह कोर्स नि:शुल्क है और इसमें किसी भी एज ग्रुप के मेल फीमेल पार्टिसिपेट कर सकते हैं। इसके लिए 100 रुपए का फॉर्म फिल कर संस्थान में ही जमा कर एडमिशन पाया जा सकता है। इसमें बेकरी, तंदूर, हाउस कीपिंग और शेफ कोर्स कराया जाता है।


संस्थान में थर्ड फ्लोर बनाने के लिए हमने मंत्रालय को प्रपोजल भेजा था। उन्होंने उसे एप्रूवल करके सेंट्रल पब्लिक वक्र्स डिपार्टमेंट को भेज दिया है। यह तकरीबन 30 करोड़ का प्रोजेक्ट है। इस डवलपमेंट के बाद स्टूडेंट्स को और अच्छी एजुकेशन मिल सकेगी।
प्रो. एमके दास, प्रभारी प्रिंसिपल

Mahesh Gupta
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned