गजक के साथ ही मुरैना का शहद को भी मिलेगी पहचान

मुरैना. नगर निगम क्षेत्र के लिए तैयार की गई पांचवर्षीय विकास कार्ययोजना की समीक्षा संभागीय आयुक्त और नगर निगम आयुक्त आशीष सक्सेना ने की। इसके साथ ही खामियों को सुधारने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। ऐसी विकास कार्ययोजनाएं प्रदेश भर में बनाई जा रही हैं। इसी क्रम में मुरैना की भी एक कार्ययोजना बनाई गई है।

By: Vikash Tripathi

Published: 25 Feb 2021, 12:13 AM IST

वर्ष 2021 से 2026 तक के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना की नवीन कलेक्टर कार्यालय में समीक्षा करते हुए आयुक्त सक्सेना ने सुधार केे भी निर्देश दिए। कलेक्टर बी. कार्तिकेयन ने भी सुझाव दिए। आयुक्त सक्सेना ने कहा कि नगर के सौन्दर्यीकरण के लिए खास कार्ययोजना बनाई जानी है। इसमें सड़कें, आवास, लोगों को रोजगार, बस स्ैटेंड, नाले-नालियां, प्रकाश, पेयजल, ट्रीटमेन्ट प्लान, गौशालाएं एवं घर-घर से कचरा कलेक्शन, गीला और सूखा कचरा अलग से एकत्र करना आदि शामिल किए जाएं। चंबल कमिश्नर ने सर्वप्रथम स्वच्छ सर्वेक्षण, ओडीएफ प्लस-प्लस की समीक्षा की, जिसमें जिले की रैकिंग 50वें स्थान पर बताई गई है। नगर के 47 में से 24 वार्डों में सीवर परियोजना का काम चल रहा है। बताया गया कि पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है। 154 किमी तक पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है। इससे दो लाख की आबादी को लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री आवास की आने वाले दिनों में जनसंख्या के आधार पर नवीन आवासों की आवश्यकता की प्लानिंग विस्तार से करने के निर्देश दिए गए। चंबल कमिश्नर ने कहा कि आने वाले दिनो में नगर निगम क्षेत्र की आबादी बढ़कर पांच लाख तक हो सकती है। इतनी आबादी को 135 लीटर पानी प्रति व्यक्ति उपलब्ध कराने की कार्ययोजना पर काम करने के निर्देश भी दिए। इसके अलावा शहरों की सड़क, प्रकाश व्यवस्था, रोड नेटवर्क एवं कनेक्टविटी बेहतर रहे। शहर में ऐसी रोड का निर्माण किया जाए, जो शहर की लाइफ लाइन या लिंक रोड के नाम से जानी जाए।
चंबल आयुक्त ने देवरी गौशाला पर जैविक खाद की रूपरेखा एवं आने वाले दिनों में लोंगो को रोजगार, सामाजिक सुरक्षा आदि पर विशेष फोकस रखने पर जोर दिया। बस स्टैंड परिसर में बसों की क्षमता की जानकारी ली एवं मुरैना जिले में टूरिस्ट हब नाने पर भी जोर दिया। मुरैना की खास पहचान बनती जा रही गजक और शहद के उत्पादन और कारोबार को लेकर आयुक्त सक्सेना ने कहा कि इस पर विशेष कार्य करने की जरूरत है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाएं व सुविधाएं सुधरी जाएं। 2026 तक नए बन रहे 300 बिस्तर के अस्पताल भवन के लिए संपर्क सड़क बनाकर अस्पताल को नंबर एक लाने के लिए काम करने पर जोर दिया।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned